देश को बैंकिंग सुविधाओं से जोड़ने की पहल, जानिए क्या है जन धन योजना और उसके लाभ !

2014 को प्रधानमंत्री ने जन धन योजना का तौफा दिया था
देश को बैंकिंग सुविधाओं से जोड़ने की पहल, जानिए क्या है जन धन योजना और उसके लाभ !
देश को बैंकिंग सुविधाओं से जोड़ने की पहल, जानिए क्या है जन धन योजना और उसके लाभ !

देश से गरीबी दूर करने के लिए सरकार ने वित्तीय समावेशन को बेहद ज़रूरी बताया है। अगर लोग बड़ी संख्या में वित्तीय सेवाओं से वंचित रहेंगे तो अपने विकास और देश के विकास में मुश्किलें आएंगे। जिसको ध्यान में रखते हुए और देश के नागरिकों को आर्थिक सहायता देने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने 15 अगस्त, 2014 को प्रधानमंत्री जन धन योजना की घोषणा की। इस योजना को 28 अगस्त, 2014 से पुरे देश में शुरू किया गया। योजना के शुभारम्भ के समय प्रधानमंत्री मोदी ने इसे गरीबी के दुष्चक्र से मुक्ति के त्यौहार के रूप में मनाने का अवसर बताया। इस अभियान को शुरू करने से पहले प्रधानमंत्री ने बैंको को इ-मैले भेजा जिसमें उन्होंने "हर परिवार के लिए बैंक खता" को राष्ट्रीय प्राथमिकता घोषित किया। सात करोड़ से भी अधिक परिवारों को इस योजना में प्रवेश देने और उनका खाता खोलने की बात भी प्रधानमंत्री ने अपने इ-मेल में कही। जिसकी वजह से योजना के उद्घाटन के दिन ही 1.5 करोड़ बैंक खाते खोले गए। जन धन योजना एक वित्तीय समावेशन के लिए राष्ट्रीय मिशन है जिसका उद्देश्य बैंकिंग, जमा खाता, प्रेषण, ऋण, बीमा, पेंशन आदि वित्तीय सेवाओं को प्रभावी ढंग से सभी तक पहुँचना है। इस योजना के तहत खाता धारक को कुल 1.30 लाख रूपए का लाभ मिलेगा। जिसमें खाता धारक को 1 लाख रूपए का दुर्घटना बीमा और साथ में 30,000 रूपए का जनरल इनश्योरेंस मिलेगा।

क्या है पीएम जन धन योजना?

15 अगस्त, 2014 को स्वतंत्रता दिवस के दिन प्रधानमंत्री ने देश को जन धन योजना का तौफा दिया था। 2014 में मोदी सरकार द्वारा शुरू की गई यह पहली और सबसे बड़ी योजना थी। इस अभियान के तहत देश के गरीब लोगों का खता जीरो बैलेंस पर बैंक, पोस्ट ऑफिस या किसी भी नेशनल बैंक और कुछ प्राइवेट बैंकों में भी खोला जाता है। इन खतों से आधार कार्ड लिंक होना चाहिए जिसके बाद उन्हें 6 महीने बाद ओवरड्राफ्ट सुविधा, 2 लाख रूपए की दुर्घटना बीमा कवर, लाइफ कवर के साथ कई सुविधाएं दी जाएगी। 26 जनवरी, 2015 तक खाता खुलवाने वाले लोगों को 30,000 रूपए का अतिरिक्त बीमा कवर दिया जाएगा। तो ड्राफ्ट खातों में चूक कवर करने के लिए क्रेडिट गारंटी फंड की स्थापना की जाएगी। इसके अलावा इस योजना में पर्वतीय, जनजातीय और दुर्गम क्षेत्रों में रहने वाले परिवारों को शामिल किया जाएगा। इतना ही नहीं परिवार के शेष व्यस्क सदस्यों और विद्यार्थियों पर भी ध्यान केंद्रित किया जाएगा। जन धन खाता योजना के तहत 15 दिसंबर, 2021 तक देशभर में लगभग 44.12 करोड़ से ज़्यादा खाते खुल चुके है। जिसमें से 55% से अधिक खाता धारकों की संख्या महिलाओं की है।

योजना से जुड़ने की सारी जानकारी

जन धन योजना के तहत खाता खोलने के लिए एक फॉर्म भरना होगा जिसमें नाम, मोबाइल नंबर, बैंक ब्रांच का नाम, आवेदक का पता, नॉमिनी, व्यवसाय, रोज़गार और वार्षिक आय व आश्रितों की संख्या, एसएसए कोड या वार्ड नंबर, विलेज कोड या टाउन कोड आदि की जानकारी भरनी होती है। भारत में रहने वाला कोई भी नागरिक जिसकी उम्र 10 साल या उससे ज़्यादा है इस योजना के तहत खाता खुलवा सकता है। जिसके लिए आवेदकों के पास आधार कार्ड, पासपोर्ट या ड्राइविंग लाइसेंस या PAN कार्ड, अथॉरिटी से जारी लेटर जिसमें नाम, पता और आधार नंबर लिखा हो, गजेटेड ऑफिसर द्वारा जारी लेटर जिसपर खाता खुलवाने का अटेस्टेड फोटो होना ज़रूरी है। इस योजना के तहत अकाउंट खुलवाने के 6 महीने बाद ओवरड्राफ्ट सुविधा, 2 लाख रूपए तक का एक्सीडेंटल इंश्योरेंस कवर, 30,000 रूपए तक का लाइफ कवर जैसी सुविधाएँ प्रदान की जाएगी। किसान और श्रमयोगी जन धन जैसी योजनाओं में पेंशन के लिए खाता खोलना आसान होगा साथ ही खाते के साथ फ्री मोबाइल बैंकिंग की सुविधा प्रदान की जाएगी। रूपए डेबिट कार्ड की सुविधा जिससे खाते से पैसे निकालना या खरीदारी करना आसान होगा और इसके ज़रिये बीमा, पेंशन प्रोडक्ट्स खरीदना भी आसान करेगा।

प्रधानमंत्री जन धन योजना के अंतर्गत खाता पब्लिक सेक्टर बैंक, प्राइवेट सेक्टर बैंक या पोस्ट ऑफिस से खोला जा सकता है। अगर आपके पास कोई और सेविंग अकाउंट है तो उसे भी जन धन खाते में बदला जा सकता है। इस योजना का आरम्भ देश के प्रत्येक नागरिक को बैंकिंग सुविधाओं से जोड़ने के लिए हुआ था। इस योजना के अंतर्गत देश के बहुत सारे नागरिकों को लाभ मिला है। अब प्रधानमंत्री जन धन योजना के अंतर्गत नई कॉलिंग सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। जिसके माध्यम से खाताधारक अकाउंट से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त कर सकते है। इस कॉलिंग सुविधा के माध्यम से खाताधारक अकाउंट से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त कर सकते है। यह सुविधा टोल फ्री होगी और देश के सभी राज्यों के लिए अलग-अलग नंबर उपलब्ध कराया जाएगा। केंद्र सरकार द्वारा गरीब परिवारों के लिए यह बहुत अच्छी पहल है। जन धन योजना 2022 के तहत देश में आर्थिक रूप से गरीब लोगों, पिछड़े वर्ग के लोगों को जीरो बैलेंस पर बैंक में खाता खोलने की सुविधा उपलब्ध कराना और आधारित ऋण प्राप्त करने की सुविधा, अंतरण सुविधा, बीमा तथा पेंशन की सुविधा उपलब्ध करना अनिवार्य है।

सरकारी योजना

No stories found.

समाधान

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.