ओलिंपिक गेम्स 2021 में स्वर्ण पदक जीतने वाले नीरज चोपड़ा की सालाना कमाई कितनी होगी? जानिए

टोक्यो ओलिंपिक 2021 में भारत की ओर से स्वर्ण पदक जीतने वाले एकलौते एथलीट जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा की ब्रांड वैल्यू में 1000 फीसदी का इज़ाफ़ा हो चुका है।
ओलिंपिक गेम्स 2021 में स्वर्ण पदक जीतने वाले नीरज चोपड़ा की सालाना कमाई कितनी होगी? जानिए

भारत के नए स्टार एथलीट नीरज चोपड़ा ने कुछ ही दिनों पहले संपन्न हुए ओलंपिक में ट्रैक और फील्ड श्रेणी में स्वर्ण पदक जीतने वाला पहला भारतीय बनकर इतिहास रच दिया है। टोक्यो ओलंपिक में मिली सफलता ने नीरज चोपड़ा को कुछ घंटों के भीतर ही बहुत बड़ा स्टार बना दिया। उनके इंस्टाग्राम फॉलोअर्स में केवल एक दिन में 1.1 मिलियन की वृद्धि हुई। इससे पता चलता है कि नीरज की लोकप्रियता ने कुछ ही समय में कितनी ज्यादा उछाल मारा।

अपने ऐतिहासिक ओलंपिक स्वर्ण पदक के बाद से चोपड़ा की ब्रांड वैल्यू कई गुना बढ़ गई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक नीरज चोपड़ा की ब्रांड वैल्यू में 1000 फीसदी का इजाफा हुआ है।

नीरज चोपड़ा की एंडोर्समेंट फीस अब टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के बराबर है। ओलंपिक में स्वर्ण पदक प[पर कब्ज़ा करने से पहले, नीरज चोपड़ा कुछ प्रसिद्ध ब्रांडों जैसे Nike, स्पोर्ट्स ड्रिंक ब्रांड Gatorade, एक्सॉनमोबिल और मसलब्लेज स्पोर्ट्स सप्लीमेंट्स का चेहरा थे।

एक प्रमुख दैनिक अख़बार से बात करते हुए, JSW स्पोर्ट्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मुस्तफा घोष ने कहा कि अब चोपड़ा के ब्रांड मूल्य में वृद्धि हो चुकी है, पुराने सौदों को भी संशोधित किया जाएगा।

गौस ने आगे कहा, "हालांकि हमारे पास 80 ब्रांडों के करीब अनुरोध हैं, नीरज के पास अगले 12-14 महीनों में भारत और विदेशों में ट्रेनिंग कैम्प्स के बीच सीमित संख्या में खाली दिन हैं, इसलिए हमें ब्रांडों पर हस्ताक्षर करने के बारे में सेलेक्टिव होना होगा।"

पहले नीरज चोपड़ा की फीस 15-25 लाख के बीच थी लेकिन अब वह बड़ी लीग में एंट्री ले चुके हैं। कोहली और धोनी जहां 1 से 5 करोड़ रुपये के बीच कमाई अपने घर ले जाते हैं, वहीं उम्मीद की जा रही है कि नीरज चोपड़ा को इन दो स्टार क्रिकेटरों से भी ज्यादा रकम मिल सकती है।

बिजनेस लाइन के मुताबिक, नीरज चोपड़ा पहले ही टाटा एआईए लाइफ के साथ करार कर चुके हैं। नीरज चोपड़ा ने साझेदारी के बारे में जानकारी देते हुए कहा था कि “टाटा एआईए परिवार में शामिल होना मेरे लिए एक लॉजिकल स्टेप था। मेरा दृढ़ विश्वास है कि भारतीयों, विशेषकर युवाओं को जीवन बीमा की आवश्यकता के बारे में शिक्षित करने और सही समय पर अपने वित्तीय लक्ष्यों की योजना बनाने में मदद करने की आवश्यकता है।"

समाधान

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

सरकारी योजना

No stories found.