कैसे होगी उज्ज्वला योजना से 9 करोड़ लोगो की ज़िंदगी आसान? जानिए पूरी जानकारी!

हमारे देश में आज भी कई घर ऐसे है जिनके पास रसोई गैस उपलब्ध नहीं है
कैसे होगी उज्ज्वला योजना से 9 करोड़ लोगो की ज़िंदगी आसान? जानिए पूरी जानकारी!
कैसे होगी उज्ज्वला योजना से 9 करोड़ लोगो की ज़िंदगी आसान? जानिए पूरी जानकारी!

हमारे देश में आज भी कई घर ऐसे है जिनके पास रसोई गैस उपलब्ध नहीं है। जिसके कारण उनको बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। "स्वच्छ ईंधन, बेहतर जीवन" के नारे के साथ केंद्र सरकार ने 1 मई, 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एक सामाजिक कल्याण योजना "प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना" की शुरुआत की थी। इस योजना के तहत 5 करोड़ परिवारों, खासकर गरीबी रेखा से नीचे जीवन बिताने वाली महिलाओं को रियायती LPG कनेक्शन मुहैया कराए गए। यह योजना इसलिए लाई गई ताकि इससे प्रदूषण भी कम हो और पेड़-पौधे भी कम कटे। केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना से गरीब महिलाओं को जल्द ही मिट्टी के चूल्हे से आज़ादी मिल जाएगी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में खाना पकाने के लिए उपयोग में आने वाले जीवाश्म ईंधन की जगह LPG के उपयोग को बढ़ावा देना है। योजना का एक मुख्य उद्देश्य महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना और उनकी सेहत की सुरक्षा करना भी है। गरीब परिवार की महिला सदस्यों को मुफ्त रसोई गैस LPG कनेक्शन मुहैया कराने के लिए मंत्रिमंडल ने 8,000 करोड़ रूपए की योजना को मंज़ूरी दी है। अब तक देश के 9 करोड़ गरीब परिवारों को मुफ्त गैस कनेक्शन मिल चूका है और इस तरह से 9 करोड़ परिवारों की किस्मत बदल चुकी है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का मकसद देश के गरीब परिवारों को गैस कनेक्शन उपलब्ध करवाना है। ऐसे गरीब परिवार जो आज भी प्रदूषित ईंधन पर भोजन पकाने को मजबूर है, वैसे लोगों को सुरक्षित ईंधन उपलब्ध करवाना इस योजना का मुख्य मकसद है। इस योजना का कार्यान्वयन केंद्र सरकार “BPL” और “APL” राशन कार्ड धारक परिवार LPG गैस कनेक्शन निशुल्क उपलब्ध करवाया जाता है। इस योजना की लाभार्थी महिलाओं की उम्र 18 साल या उससे अधिक होनी चाहिए।

क्या है प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0?

हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0, 10 अगस्त, 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से लांच कर दी गई है। जिसके अंतर्गत लाभार्थियों को रिफिल एवं होंट प्लेट, LPG गैस कनेक्शन के साथ निशुल्क प्रदान की जाएगी। लाभार्थियों को गैस स्टोव खरीदने के लिए ब्याज मुक्त लोन भी मुहैया करवाया जाएगा। इस योजना को प्रधानमंत्री के द्वारा महोबा जिले से लांच किया गया। जिसमें 10 महिला लाभार्थियों को वर्चुअल माध्यम से LPG कनेक्शन के कागज़ात उतर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा प्रधानमंत्री की ओर से लाभार्थियों को प्रदान किए गए। इस योजना के अंतर्गत कागज़ी करवाई सरल बना दी गई है। अब लाभार्थियों को अपना राशन कार्ड एवं एड्रेस प्रूफ जमा करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। अपने पते का प्रमाण देने के लिए एक घोषणा पत्र जमा करना होगा। इसके अलावा इस अवसर पर यह भी जानकारी प्रदान की गई कि कोरोना काल के दौरान पीएम मोदी के द्वारा लाभार्थियों को 6 महीने तक मुफ्त में सिलेंडर प्रदान किए गए। उज्ज्वला 2.0 के तहत लाभार्थियों को जमा मुक्त LPG कनेक्शन के साथ-साथ पहला रिफिल और हॉटप्लेट निशुल्क प्रदान किया जाएगा। साथ ही, इसमें नामांकन की प्रक्रिया के लिए न्यूनतम कागज़ी करवाई की ज़रूरत होगी। उज्ज्वला 2.0 में प्रवासियों को राशन कार्ड या निवास प्रमाण-पत्र जमा करने की ज़रूरत नहीं होगी। "पारिवारिक घोषणा" और "निवास प्रमाण" दोनों के लिए स्वयं द्वारा एक घोषणा पर्याप्त है। उज्ज्वला 2.0 LPG तक सभी की पहुंच के प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण को साकार करने में मदत करेगी। वित्तीय वर्ष 2021-22 के केंद्रीय बजट में PMUY स्कीम के तहत एक करोड़ अतिरिक्त LPG Connection के प्रावधान की घोषणा की गई थी। इन एक करोड़ अतिरिक्त पीएमयूवाई कनेक्शन का उद्देश्य कम आय वाले उन परिवारों को जमा-मुक्त LPG कनेक्शन प्रदान करना है। जिन्हें पीएमयूवाई के पहले चरण के तहत शामिल नहीं किया जा सका था।

योजना का लाभ और उद्देश्य

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का मुख्य उद्देश्य भारत में अशुद्ध ईंधन को छोड़कर स्वच्छ LPG ईंधन को बढ़ावा देगा तथा पर्यावरण को दूषित होने से बचाना। गरीबी रेखा से नीचे आने वाले परिवारों की महिलाओं को लकड़ी एकत्र करके चूल्हा जलाकर खाना पकाना पड़ता है इसके धुंए से महिलाओं तथा बच्चों के स्वास्थ्य को हानि होती है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत मिलने वाली LPG गैस के इस्तेमाल से महिलाओं तथा बच्चों के स्वास्थ्य को सुरक्षित रखा जा सकेगा। इस योजना के ज़रिए महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना। योजना को लागू करने का एक उद्देश्य यह भी है कि इससे महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा मिलेगा और महिलाओं के स्वास्थ्य की भी सुरक्षा की जा सकेगी। वर्तमान में उपयोग में आने वाले अशुद्ध जीवाश्म ईंधन के उपयोग को कम करना और शुद्ध ईंधन के उपयोग को बढ़ाकर प्रदूषण में कमी लाना भी योजना के प्रमुख लक्ष्यों में से एक है। जो बीमारियां खाना बनाने के लिए उपयोग में आने वाले अशुद्ध जीवाश्म ईंधन के जलने से होती है, उज्ज्वला योजना के लागू होने के बाद उनमें भी कमी आने की संभावना है। इस प्रकार यह योजना महिलाओं और बच्चों को स्वस्थ रखने में भी सहायक सिद्ध होगी। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का लाभ देश में गरीबी रेखा से नीचे आने वाली महिलाओं को प्रदान किया जाएगा। देश की महिलाओं को इस योजना के तहत निशुल्क LPG गैस कनेक्शन उपलब्ध कराया जाएगा। इस योजना के द्वारा अब महिलाओं को खाना बनाने में आसानी होगी। आवेदक का बैंक खाता होना अनिवार्य है। वित्तीय वर्ष 2021-22 के केंद्रीय बजट में PMUY स्कीम के तहत एक करोड़ अतिरिक्त LPG कनेक्शन के प्रावधान की घोषणा की गई थी। इन एक करोड़ अतिरिक्त उज्ज्वला 2.0 का उद्देश्य कम आय वाले उन परिवारों को जमा-मुक्त LPG कनेक्शन के पहले चरण के तहत शामिल नहीं किया जा सका था।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से जुड़ने वाली इच्छुक महिला आवेदन फॉर्म को वेबसाइट से डाउनलोड कर सकती है तथा योजना की आधिकारिक वेबसाइट से भी डाउनलोड कर सकती है। इसके बाद आवेदन फॉर्म में पूछी गयी जानकारी जैसे आधार कार्ड नंबर, मोबाइल नंबर, नाम, पता आदि सही-सही भरनी होगी। इसके बाद आवेदन फॉर्म के साथ अपने सभी दस्तावेज़ों को अटैच करके अपने निकटतम गैस-एजेंसी में जाकर जमा करना होगा। गैस एजेंसी अधिकारी द्वारा आपका आवेदन फॉर्म तथा सभी दस्तावेज़ सत्यापित कर 10 से 15 दिन के अंदर LPG गैस कनेक्शन जारी कर दिया जाएगा। इस योजना में आवेदन करने के लिए आवेदक का महिला होना अनिवार्य है साथ ही आवेदक की आयु 18 साल से ज़्यादा होनी चाहिए। इस योजना के तहत आवेदक गरीबी रेखा से नीचे होनी चाहिए। आवेदक के पास बैंक खाता होना अनिवार्य है। आवेदक के पास पहले से LPG कनेक्शन नहीं होना चाहिए। योजना में आवेदन के लिए आवेदक के पास नगर पालिका अध्यक्ष या पंचायत प्रधान द्वारा जारी BPL प्रमाण पत्र, पहचान प्रमाण पत्र, BPL राशन कार्ड, परिवार के सभी सदस्यों का आधार नंबर, पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ, निवास प्रमाण पत्र, जाती प्रमाण पत्र, जनधन बैंक ख़ाता विवरण या बैंक पासबुक और निर्धारित प्रारूप में 14 पॉइंट्स की डिक्लेरेशन जो कि आवेदक द्वारा हस्ताक्षर की गई हो जैसे दस्तावेज़ का होना अनिवार्य है।

सरकारी योजना

No stories found.

समाधान

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com