लिप-सिंकिंग तो सब कर रहे हैं, मेरी प्रोफाइल अलग दिखनी चाहिए: 'Paper Queen' Apeksha Rai

इंस्टाग्राम (Instagram) समेत कई सारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर 'Paper Queen' के नाम से बहुत तेज़ी से वायरल हो रहीं 19 साल की अपेक्षा राय (Apeksha rai) से हमारी ख़ास बातचीत पढ़िए...
लिप-सिंकिंग तो सब कर रहे हैं, मेरी प्रोफाइल अलग दिखनी चाहिए: 'Paper Queen' Apeksha Rai

मध्य प्रदेश के पन्ना जिले की शाहनगर तहसील के अंदर आने वाला एक छोटा सा गांव है 'सुडोर', वहां की एक 19 वर्षीय लड़की अपेक्षा राय, 'Paper Queen' के नाम से विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर लगातार वायरल हो रही है। दरअसल, अपेक्षा 'न्यूज़ पेपर' से डिजाइनर ड्रेस बनाती हैं और उन्हीं ड्रेसेस को पहनकर इंस्टाग्राम समेत कई Social Media प्लेटफॉर्म्स पर रील्स (Reels) बनाती हैं। हालात ये हैं कि उन्हें MX TakaTak (एम एक्स टकाटक) और Josh (जोश) जैसे शॉर्ट वीडियो ऐप्स पर पॉपुलर क्रिएटर का ख़िताब मिल चुका है, वहीं इंस्टाग्राम पर भी उनके कुछ ही समय में 63 हज़ार से ज्यादा फॉलोवर हो चुके हैं और लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं।

तो आइए, Paper Queen के साथ हुई हमारी ख़ास बातचीत के अहम हिस्से पढ़िए और उनकी कहानी उनकी ही जुबानी जानिए...

सवाल - सबसे पहले तो आप ये बताइए कि ये 'पेपर की ड्रेस' बनाने का आईडिया कहां से आया?

अपेक्षा - फ्लैशबैक में जाना पड़ेगा। मैं कॉलेज की पढ़ाई करने गांव से करीब 30 किमी दूर जिला-कटनी चली गई थी। सोचा पढ़ाई के साथ सिलाई-बुनाई का काम भी सीख लूं। कुछ दिन सिलाई सीखी और फिर देशभर में लॉकडाउन लग गया। शुरुआत में जब सिलाई सिखाते हैं तो वो पेपर पर सिलाई करना सिखाते हैं ताकि कपड़ा वेस्ट न हो, मैंने पेपर पर ही थोड़ा बहुत सिलाई करना सीखा था। लॉकडाउन लगने के बाद सब अपने घरों में सुरक्षित हो गए, लेकिन मेरे अंदर तो सिलाई का जूनून सवार था, इसलिए खाली समय में मेरे दिमाग में पेपर गाउन, ड्रेस वगैरह बनाने का ख़्याल आया। टिकटॉक पर में पहले से ही वीडियो बनाती थी, मैंने ड्रेस बनाई और फिर उसे ही पहन कर रील्स बनाने लगी जो लोगों को बहुत ज्यादा पसंद आ रही हैं।

सवाल - ये सोशल मीडिया, शार्ट वीडियो एप का जूनून कैसे चढ़ा?

अपेक्षा - मैं पहले टिकटॉक चलाया करती थी, उसमें लोगों की शॉर्ट वीडियोस वायरल हुआ करती थीं। ये देख कर मुझे भी लगा कि मुझे भी वायरल होना है। मैंने कई सारे वीडियो देखे थे उनमें अधिकतर लोग लिप-सिंकिंग करते थे, सिंगिंग करते थे, डांस करते थे। लेकिन मेरे दिमाग में कुछ अलग करने का ख्याल था ताकि लोग मेरी प्रोफाइल विजिट करें तो उन्हें कुछ डिफरेंट दिखाई दे। फिर मेरा दिमाग ड्रेस पर गया, जैसा कि मैंने आपको पहले ही बताया, मैं सिलाई सीख रही थी तो मेरा दिमाग सिलाई आस-पास ही घूमता रहता था। मैंने देखा सब नार्मल ड्रेस पहनकर वीडियोज बना रहे हैं इसलिए फिर मैंने पेपर की ड्रेस बनानी शुरू कर दी और उसे पहन कर वीडियो बनाया। मेरा पहला ही वीडियो बहुत ज्यादा वायरल हो गया। उससे मुझे मोटिवेशन मिला और मैं यही काम आगे भी करती गई। इसी की बदौलत मुझे MX TakaTak और Josh एप पर पॉपुलर क्रिएटर मिल चुका है।

सवाल - आप बहुत ही छोटे गांव से ताल्लुक रखती हैं वहां रहकर ये सब कर पाना कितना कठिन या आसान है? आपको लेकर वहां के लोगों की सोच क्या है? आपको आपकी फैमिली सपोर्ट करती है?

अपेक्षा - फॅमिली सपोर्ट के बिना कुछ भी कर पाना बहुत मुश्किल काम है। मेरी फैमिली ही मेरी सबकुछ है। मेरे हर काम में मुझे फैमिली का सपोर्ट मिलता है। मेरे गांव की बात करूं, तो जो लोग इस सब की नॉलेज रखते हैं उनका सपोर्ट, तारीफें मिल रही हैं। रिलेटिव्स भी अच्छा बोलते हैं। बाकी गांव के जो कई सारे लोग हैं, जिन्हें सोशल मीडिया की जानकारी नहीं है वो taunt या कह लें Nagative way में यही बोलते हैं कि लड़की फोन चलाती है, वीडियो बनती है, सब देखते हैं, नाचती-गाती है, blah blah! लेकिन मुझे किसी की बुरी बातों से फर्क नहीं पड़ता मुझे जो अच्छा और सही लगता है, मैं कर रही हूं और मुझे बहुत सारे लोगों का प्यार भी मिल रहा है।

सवाल - एक छोटे से गांव में रह कर ड्रेस बनाना, वीडियोस बनाना, उन्हें एडिट करना, आपको किसी की हेल्प मिल रही है?

जवाब- मेरी एक बहन है जो ड्रेस बनाने में मेरी मदद करती है और रील्स बनाने में हमेशा कैमरे के पीछे रहती है। वही मेरा सबसे बड़ा सपोर्ट सिस्टम है। बाकि वीडियो एडिट्स वगैरह में यूट्यूब की मदद से सीखती हूं और खुद ही एडिट करती हूं।

सवाल - कौन से शॉर्ट वीडियो एप्स या सोशल मीडिया प्लेटफार्म का यूज करती हैं आप?

जवाब - मैं Instagram, MX Takatak, Josh, ⁣VShots, HiPi वगैरह में वीडियोज अपलोड करती हूं। MX Takatak और Josh App पर मुझे पॉपुलर क्रिएटर मिल चुका है और थोड़ी बहुत इनकम भी होने लगी है।

सवाल- अभी आपका ग्रेजुएशन चल रहा है आगे क्या करने का प्लान है?

अपेक्षा - मैं फैशन डिजाइनिंग का कोर्स करना चाहती हूं, लेकिन मुझे अभी कोई अंदाज़ा नहीं है कि इसके लिए मुझे करना क्या होगा। मैं और मेरा परिवार एक गांव में रहता है, उनके लिए ये सब नया है। मुझे इतना पता है कि फैशन डिजाइनिंग का कोर्स करने के लिए अपनी फॅमिली से बहुत दूर जाना पड़ेगा। मेरी फैमिली मुझे खुद से दूर भेजने को लेकर बहुत आशंकित है। इसमें कितना क्या खर्च आएगा ये भी मुझे नहीं पता। हालांकि मैंने NIFT के बारे में थोड़ा बहुत सुना है। आगे देखना होगा, नियति ने मेरे लिए क्या तय किया है।

एडिटर- मैं तो यही कहूंगा कि आप फैमिली से बोलिए कि आपने इतना सपोर्ट किया है तो आगे भी करिए। मैंने आपकी प्रोफाइल पर आपके द्वारा बनाई गई ड्रेसेस देखी हैं मुझे काफी क्रिएटिव लगीं और लोगों को भी बेहद पसंद आ रही हैं। इसीलिए आज ये इंटरव्यू हो रहा है। सामान्यतः हम मात्र लिप सिंकिंग वाले क्रिएटर्स का इंटरव्यू नहीं करते। आप काफी मेहनत कर रही हैं, आगे जायेंगी।

आखिरी सवाल - अपने क्षेत्र (Area) और उम्र (Age) की लड़कियों से क्या कहना चाहेंगी?

जवाब - मैं अपनी उम्र की ख़ासतौर पर गांव की लड़कियों से कहना चाहती हूं कि अगर आपको लगता है कि आपके अंदर कोई टैलेंट हैं तो उसे दबने मत देना, उसे बढ़ाते रहना। खुद पर फोकस करें। किसी की भी नेगेटिव बातों पर बिलकुल भी ध्यान न दें। नतीजा जो भी हो कम से कम एक बार शुरुआत करके देखें।

Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com