6 करोड़ पीएफ खाताधारकों के लिए EPFO का महत्वपूर्ण अलर्ट, जानना बेहद जरूरी

नौकरी सरकारी हो या प्राइवेट भविष्य निधि किसी भी कर्मचारी के लिए बहुत महत्वपूर्ण होती है, क्योंकि यही निधि होती है जो सेवानिवृत्ति के बाद व्यक्ति को वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है। इसलिए भविष्य निधि मामलों की हर जानकारी रखना आपके लिए बेहद ज़रूरी है।
6 करोड़ पीएफ खाताधारकों के लिए EPFO का महत्वपूर्ण अलर्ट, जानना बेहद जरूरी

प्रचलित सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर के माध्यम से कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने अपने 6 करोड़ खाताधारकों के लिए अलर्ट जारी किया है। Provident Fund (PF) खाताधारकों को व्यक्तिगत जानकारी और किसी भी तरह के एप को डाउनलोड करने को लेकर अलर्ट कर दिया गया है।

नौकरी सरकारी हो या प्राइवेट भविष्य निधि किसी भी कर्मचारी के लिए बहुत महत्वपूर्ण होती है, क्योंकि यही निधि होती है जो सेवानिवृत्ति के बाद व्यक्ति को वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है। इसलिए भविष्य निधि मामलों की हर जानकारी रखना आपके लिए बेहद ज़रूरी है।

अलर्ट जारी करते हुए ईपीएफओ ने क्या कहा?

EPFO ने अपने ग्राहकों को फर्जी कॉल के खिलाफ चेतावनी जारी की है। ईपीएफओ ने ट्वीट किया, 'ईपीएफओ अपने खाताधारकों से फोन कॉल पर कभी भी UAN नंबर, आधार नंबर, पैन नंबर या बैंक डिटेल नहीं मांगता और न ही ईपीएफओ अपने खाताधारकों को कोई फोन कॉल करता है। इसलिए, आपको इस तरह की फर्जी इनकमिंग कॉल से बचने की जरूरत है क्योंकि यह हैकर को आपके ईपीएफ खाते में Log-In करने और उसकी सुरक्षा से समझौता करने में मदद कर सकता है। EPFO ने भी अपने ग्राहकों को फेक वेबसाइट से बचने की चेतावनी दी है।

बैंक भी समय-समय पर अपने ग्राहकों के लिए अलर्ट जारी करते रहते हैं

खासतौर पर बैंक अपने ग्राहकों की सुरक्षा के लिए इस अलर्ट जारी करते हैं। वे अपने ग्राहकों को संदेशों और ट्विटर हैंडल के माध्यम से ऑनलाइन धोखेबाजी का शिकार होने के बचने की चेतावनी देते रहते हैं।

बैंकिंग फ्रॉड्स से जुड़ी जानकारी-

COVID-19 लॉकडाउन के दौरान बैंकिंग धोखाधड़ी में भारी वृद्धि हुई है। RBI की एक रिपोर्ट के अनुसार, बैंकों ने वर्ष 2018-19 में डिजिटल लेनदेन के कारण कुल 71,543 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की सूचना दी। इस अवधि के दौरान ऋणदाताओं द्वारा 6800 से अधिक धोखाधड़ी वाले बैंक मामले दर्ज किए गए। पिछले 11 वित्तीय वर्षों के दौरान बैंक धोखाधड़ी के कुल 53,334 मामले सामने आए हैं। इन वर्षों में 2.05 लाख करोड़ रुपये की धोखाधड़ी हुई है।

समाधान

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

सरकारी योजना

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com