मोदी से कहा, भारत में शरण दो या आर्थिक मदद: अल्ताफ हुसैन,पाकिस्तानी नेता

मोदी से कहा, भारत में शरण दो या आर्थिक मदद: अल्ताफ हुसैन,पाकिस्तानी नेता

Ashish Urmaliya || Pratinidhi Manthan

पाकिस्तान की मुत्तहिदा कौमी मूवमेंटपार्टी के संस्थापक अल्ताफ हुसैन ने प्रधानमंत्री मोदी से उन्हें और उनके साथियों कोभारत में शरण व आर्थिक मदद देने की गुहार लगाई है। दरअसल, पकिस्तान द्वारा अल्ताफ हुसैनपर आतंकवाद फैलाने का आरोप लगाया गया है। बीते रविवार पाकिस्तानी मीडिया ने  इस बात की पुष्टि की है।

पाकिस्तान के एक प्रतिष्ठित न्यूज़ चैनलकी रिपोर्ट के अनुसार, 2016 में अल्ताफ हुसैन ने ब्रिटैन से अपने पाकिस्तानी समर्थकोंको भड़काऊ भाषण दिया था, जिसके बाद इसी साल 10 अक्टूबर को ब्रिटेन के क्राउन प्रॉसिक्यूशनसर्विस ने अल्ताफ पर आतंकवाद का मामला दर्ज कर लिया था। अगले साल यानी 2020 में जूनके महीने में उनके खिलाफ स्टैंड ट्रायल होना है साथ ही जमानत शर्तों के तहत ब्रिटेनपुलिस द्वारा उनका पासपोर्ट जप्त कर लिया गया है।

पेंचफसा हुआ है।

अब अल्ताफ तब तक किसी भी यात्रा दस्तावेजके लिए आवेदन नहीं कर सकते जबतक अदालत द्वारा उन्हें अनुमति नहीं मिलती। इसके साथ हीखिलाफ के वकील इस बात का आंकलन करने में लग चुके हैं, कि ट्रायल से पहले प्रधानमंत्रीसे मशरण मांग कर उन्होंने जमानत की शर्तों का उल्लंघन किया है या नहीं। ब्रिटेन नेउन्हें कुछ शर्तों के साथ जमानत दी है लेकिन हाल ही में उन्होंने अपने भाषण में कहाकि, वे भारत की यात्रा करना चाहते हैं क्योंकि यहां उनके दादा-दादी दफ़न हैं।

अल्ताफद्वारा कही गई पूरी बात-

उन्होंने कहा, कि 'अगर भारत के प्रधानमंत्रीनरेंद्र मोदी इजाजत दें, तो में अपने साथियों के साथ भारत में रहना चाहूंगा क्योंकिमेरे दादा-दादी की कब्रें वहीँ हैं मेरे सभी पुरखों और रिश्तेदारों की कब्रें वहीँहैं। में भारत जाकर उन सभी की कब्रों को देखना चाहता हूं। उन्होंने अपने भाषण की कुछबातें पीएम मोदी को समर्पित करते हुए पाकिस्तान पर आरोप लगाया, कि साल 2017 के अगस्तमहीने में पाकिस्तानी सरकार ने उनका घर, संपत्ति और कार्यालय सब कब्जे में ले लियाहै। 

वीडियोहो गया था वायरल-

सितंबर के महीने में अल्ताफ का एक वीडियोइंटरनेट पर जमकर वायरल हुआ था। इस वीडियो में वे भारतीय देशभक्ति गीत "सारे जहांसे अच्छा हिंदुस्तान हमारा" गा रहे थे। उन्होंने भाषण के दौरान अपनी बातें मोदीको समर्पित करते हुए कहा, कि अगर उन्हें भारत में शरण नहीं दी जा सकती तो मोदी उनकीआर्थिक मदद करें।

Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com