नोबेल मेडिसिन पुरस्कार: डेविड जूलियस, अर्देम पटापाउटियन को संयुक्त रूप से किया गया सम्मानित

नोबेल पुरस्कार विजेताओं का चुनाव करने वाली जूरी ने कहा, 2021 के नोबेल पुरस्कार विजेताओं की अभूतपूर्व खोजों ने हमें यह समझने में सहायता प्रदान की है कि कैसे गर्मी, ठंड और मैकेनिकल फोर्स तंत्रिका आवेगों (Nerve Impulses) को शुरू कर सकते हैं जो हमें दुनिया को देखने और अनुकूलित करने की अनुमति देते हैं।
नोबेल मेडिसिन पुरस्कार: डेविड जूलियस, अर्देम पटापाउटियन को संयुक्त रूप से किया गया सम्मानित
Image- Instagrammed by Nobel Prize

जूरी ने कहा कि अमेरिकी वैज्ञानिकों डेविड जूलियस और अर्डेम पटापाउटियन ने सोमवार को तापमान और स्पर्श के रिसेप्टर्स पर खोजों के लिए नोबेल मेडिसिन पुरस्कार जीत लिया है। नोबेल जूरी ने कहा, "इस साल के नोबेल पुरस्कार विजेताओं की अभूतपूर्व खोजों ने हमें यह समझने की अनुमति दी है कि कैसे गर्मी, ठंड और मैकेनिकल फोर्स तंत्रिका आवेगों (Nerve Impulses) को इनीशिएट कर सकते हैं जो हमें दुनिया को समझने और अनुकूलित करने की अनुमति देते हैं।"

"हमारे दैनिक जीवन में हम इन संवेदनाओं को हल्के में लेते हैं, लेकिन तंत्रिका आवेगों को कैसे शुरू किया जाता है ताकि तापमान और दबाव को महसूस किया जा सके? इस प्रश्न को इस वर्ष के नोबेल पुरस्कार विजेताओं द्वारा हल किया गया है।"

सैन फ्रांसिस्को में कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में प्रोफेसर जूलियस और कैलिफोर्निया में स्क्रिप्स रिसर्च के प्रोफेसर पेटापुटियन, 10 मिलियन स्वीडिश क्रोनर ($1.1 मिलियन, एक मिलियन यूरो, लगभग 8 करोड़ 20 लाख रुपये) का नोबेल पुरस्कार चेक साझा करेंगे।

पिछले साल यह पुरस्कार हेपेटाइटिस सी वायरस की खोज के लिए तीन वायरोलॉजिस्टों को दिया गया था।

2020 का पुरस्कार कोरोना महामारी के दिशानिर्देशों के अनुरूप आयोजित किया गया था, यह पहली बार है जब पूरी चयन प्रक्रिया कोविड -19 की छाया में सार्वजानिक तौर पर हुई है।

नामांकन हर साल जनवरी के अंत में बंद हो जाते हैं, उस समय पिछले साल कोरोनवायरस काफी हद तक चीन तक ही सीमित था।

नोबेल सीज़न मंगलवार को भौतिकी के पुरस्कार के साथ और बुधवार को रसायन विज्ञान के साथ जारी रहेगा, इसके बाद गुरुवार को साहित्य के लिए बहुप्रतीक्षित पुरस्कार और अर्थशास्त्र पुरस्कार से पहले शुक्रवार को शांति पुरस्कार दिया जायेगा फिर सोमवार, 11 अक्टूबर को इस सीज़न की समाप्ति होगी।

समाधान

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

सरकारी योजना

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com