भारत के इन 8 पुलों से अपनी नजरें नहीं हटा पाएंगे आप, एक बार जरूर देखें!

भारत के इन 8 पुलों से अपनी नजरें नहीं हटा पाएंगे आप, एक बार जरूर देखें!
Amit

भारत के इन 8 पुलों से अपनी नजरें नहीं हटा पाएंगे आप, एक बार जरूर देखें!

Ashish Urmaliya || The CEO Magazine

भारत की कुल तटीय सीमा लगभग 7,517 किलोमीटर है, साधारण भाषा में कहें, तो 28 में से भारत के 9 राज्य और 4 केंद्र शासित राज्य समुद्र से सीधे संपर्क में हैं (तटीय राज्य कहलाते हैं)। इस बात का इस आर्टिकल से कोई खास लेना देना नहीं है बस, जनरल नॉलेज के लिए डाल दी है। वैसे तो बांग्लादेश को दुनिया का सबसे ज्यादा नदियों वाला देश कहा जाता है लेकिन भारत में भी नदियों की कमी नहीं है।

जानकारों ने भारत में नदियों को 4 समूहों में वर्गीकृत किया है।

  1. हिमालय से निकलने वाली नदियां- यहां से निकलने वाली प्रमुख नदियां हैं- सिंधु नदी, गंगा, ब्रह्मपुत्र (इन तीनो नदियों की सहायक नदियों की संख्या भी सैकड़ों में है)।

  2. दक्षिण से निकलने वाली नदियां- यहां से निकलने वाली प्रमुख नदियां हैं गोदावरी, कृष्णा, कावेरी, महानदी। पूर्व दिशा में बहती हुई ये नदियां बंगाल की खाड़ी में जाकर गिरती हैं।

  3. तटवर्ती नदियां- भारत में करीब 600 तटवर्ती नदियां हैं। और इनमें से कुछ ही नदियां पूर्वी तट के डेल्टा के निकट समुद्र में जाकर मिलती हैं बाकी की अधिकतर नदियां रेत या मरुस्थल में लुप्त हो जाती हैं।

  4. अन्तर्देशीय नालों से द्रोणी क्षेत्र की नदियां- उस तरह की नदियां जहां वर्षा अथवा पिघलती बर्फ़ का पानी नदियों, नहरों और नालों से बह कर एक ही स्थान पर एकत्रित हो जाता है। देशभर में ऐसी बहुत सी नदियां हैं।

कुल मिला कर बात करें, तो देश में 51 मुख्य नदियां हैं और सैकड़ों की तादाद में इनकी सहायक नदियां है।

अब किसी देश का इतना बड़ा हिस्सा समुद्र से घिरा होगा और उसके अंदर सैकड़ों नदियों का चक्रव्यूह होगा तो जाहिर सी बात है वहां पुलों(bridges) की भी आवश्यकता होगी और महत्ता तो होगी ही। इसीलिए भारत में पुल भी बहुत हैं। दुनियाभर के देशों में बड़े-बड़े पुल हैं, कुछ पुल बहुत प्रचलित भी हैं, वर्ल्ड फेमस! मतलब दुनियाभर के लोग खास तौर पर उन पुलों को देखने जाते हैं। भारत में भी इसी तरह के कुछ पुल मजूद हैं बेहद लुभावने और आश्चर्यचकित कर देने वाले हैं, जो समुद्र और नदियों पर बने हुए हैं। ये पुल इंजीनियरिंग का नायाब नमूना पेश करते हैं। दूर दराज के असंभव पहुंच वाले स्थानों तक पहुंचाने वाले ये पल शहरों का ट्रैफिक कम करने में भी सहायक होते हैं। हम यहां पर भारत में मौजूद जिन बब्रिड्जस के बारे में बताने जा रहे हैं, वो इतने आकर्षण हैं कि आप एक बार यहां पहुंचने के बाद नज़ारों को कैमरे में कैद किये बिना नहीं रह पाएंगे। तो आइये इन खूबसूरत ब्रिड्जस के बारे में जानते हैं।

बांद्रा- वर्ली सी-लिंक मुंबई, महाराष्ट्र- यह मुंबई सिटी के सबसे आकर्षक स्थानों में से एक है। यह ब्रिज बांद्रा को मुंबई के पश्चिमी और दक्षिणी (वर्ली) उपनगरों को आपस में जोड़ता है। इस 5.6 किलोमीटर की लंबाई वाले इस पुल पर आवागवन की शुरुआत साल 2009 से हुई थी। रात के वक्त यहां से मुंबई का नजारा देखने लायक होता है। सबसे खास बात यह है कि 'बांद्रा-वर्ली सी लिंक' पानी पर बना देश का सबसे लंबा पुल है।

Amit

पंबन ब्रिज, रामेश्वरम, तमिलनाडु- पाक जलडमरू पर बना यह ब्रिज रामेश्वरम को भारत के मुख्य भू-भाग से जोड़ता है। 100 साल से भी ज्यादा पुराना यह ब्रिज 2 किलोमीटर तक फैला हुआ है। इस पर आवागवन की शुरुआत 24 फरवरी 1914 में की गई थी। तमिलनाडु में स्थित यह ब्रिज समुद्र के ऊपर बना हुआ है, जो देखने में बड़ा मन लुभावन है। यह दुनिया के सबसे खतरनाक ब्रिड्जस में से एक भी है। अगर आपने इंजीनियरिंग का यह नायाब नमूना नहीं देखा तो कुछ नहीं देखा। बता दें, भारतीय रेल इस ब्रिज के सामानांतर एक नया ब्रिज बनाने वाला है, जिसको अगले 24 महीने में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

Amit

गोदावरी ब्रिज, राजमुंदरी, आंध्र प्रदेश- यह ब्रिज राजमुंदरी में गोदावरी नदी पर बना हुआ है, जिसकी लंबाई 4.2 किलोमीटर है। गोदावरी नदी साउथ इंडिया की सबसे बड़ी नदी मानी जाती है। देखने में 2 मंजिला लगने वाला यह ब्रिज रोड कम रेल ब्रिज है। यहां पर्यटक चिल आउट के लिए आते हैं।

Amit

गोदावरी आर्क ब्रिज, राजमुंदरी, आंध्र प्रदेश- इस ब्रिज की वजह से ही राजमुंदरी शहर का नाम देशभर में जाना जाता है। 28 पिलरों पर खड़े इस गोदावरी आर्क ब्रिज की लंबाई 2.7 किलोमीटर की है। यह ब्रिज एशिया में सबसे लंबे समय तक रहने वाले कंक्रीट के आर्क पुलों में से एक है। इस खूबसूरत और प्रचलित ब्रिज की बनावट आप तस्वीर में देख सकते हैं।

Amit

कोलिया भोमोरा सेतु, सोनितपुर, असम- 3 किलोमीटर की लंबाई वाला यह ब्रिज असम के सोनितपुर जिले को दक्षिण तट पर नागांव जिले से जोड़ता है।शाम के वक्त इस आकर्षक पुल की लाइटिंग देखकर आप मंत्रमुग्ध हो जायेंगे। तकरीबन 32 साल पुराने इस ब्रिज का नाम कोलिया भोमोरा फुकन के नाम पर रखा गया है।

Amit

न्यू यमुना ब्रिज, प्रयागराज, उत्तर प्रदेश- यह ब्रिज देश का दूसरा सबसे लंबा केबल वाला ब्रिज है। प्रयागराज शहर को नैनी से जोड़ने वाला यह आकर्षक ब्रिज 1.5 किलोमीटर लंबा है। 6 लेन वाला यह ब्रिज सड़क पुल का शानदार नमूना है। अपनी आकर्षक बनावट और लाइट के चलते यह ब्रांड न्यू ब्रिज पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बन चुका है।

Amit

विद्यासागर सेतु, कोलकाता, पश्चिम बंगाल- हावड़ा ब्रिज के बाद यह पश्चिम बंगाल का दूसरा सबसे प्रचलित लंबा ब्रिज है। हुगली नदी पर बना यह पुल 3.6 किलोमीटर लंबा है, जो हावड़ा शहरों को कोलकाता से जोड़ता है। इस सड़क पल में कुल 9 लेन हैं जहां से प्रतिदिन करीब 30 हजार वाहन गुजरते हैं, जिससे शहर में होने वाले ट्रैफिक में भारी कमी आई है। इंजीनियरिंग का कमाल और हुगली का नजारा देखने के लिए आपको यहां एक बार जरूर आना चाहिए।

Amit

वेंबनाद ब्रिज, कोच्चि, केरल- यह ब्रिज देश का सबसे लंबा रेलवे ब्रिज है, जिसकी लंबाई 4.6 किलोमीटर है। केरल के एडापल्ली और वल्लारपदम को आपस में जोड़ने वाले इस रेलवे पल से ट्रेनों द्वारा सिर्फ माल की ढ़ुलाई होती है। खूबसूरत बनावट वाले इस पुल से प्रतिदिन 15 ट्रेनें गुजरती हैं। प्रकृति की गोद में बने इस पुल के आस-पास का दृश्य आपको मंत्रमुग्ध कर देगा।

Amit

समाधान

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

सरकारी योजना

No stories found.