साढ़े 7 सौ मैच जीतने वाली भारतीय टीम, दुनिया की तीसरी टीम बनी, अन्य रिकॉर्ड

साढ़े 7 सौ मैच जीतने वाली भारतीय टीम, दुनिया की तीसरी टीम बनी, अन्य रिकॉर्ड

Ashish Urmaliya ||Pratinidhi Manthan

भारतकी ऑस्ट्रेलिया के साथ तीन वन डे मैचों की सीरीज चल रही थी, भारत ने 2-1 से जीत ली।हालिया हुए तीसरे वन डे में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से हरा दिया है। इसी जीतके साथ अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट (टेस्ट मैच, वन डे और टी-20) में भारतीयक्रिकेट टीम 750 मैच जीतने वाली दुनिया की तीसरी टीम बन गई है। पहले स्थान पर1,032 मैच की जीत के साथ ऑस्ट्रेलिया है और दूसरे स्थान पर 799 मैच के साथ इंग्लैंडटीम चल रही है। 

750वां मैच जीत कर IndianTeam तीसरे स्थान पर आ गई है, वहीं कुल 713 मैच जीत कर पाकिस्तान चौथे स्थान पर है।

शर्मा जी ले लड़के ने फिर ठोकदिया-

भारतीय टीम के फायर ब्रांड बल्लेबाज रोहित शर्मा ने इस आखिरी मैच में 128 गेंदों पर 119 रन बनाए। इसके साथ ही उन्होंने अपने वनडे करियर के 9,000 रन पूरे कर लिए हैं। सबसे तेज़ 9,000 रन बनाने वाले वह दुनिया के तीसरे बल्लेबाज बन गए हैं। 9,115 रन बनाने के लिए उन्होंने मात्र 217 पारियां खेलीं। इन 217 पारियों में उन्होंने 29 शतक और 43 अर्धशतक लगाए हैं। दुनिया के सबसे तेज़ 9,000 रन बनाने वाले खिलाड़ियों की बात करें, तो पहले स्थान पर कैप्टन कोहली हैं जिन्होंने मात्र 194 परियों में 9,000 रन पूरे कर लिए थे। इसके बाद एबी डिविलियर्स का नाम आता है जिन्होंने 9,000 रन पूरे करने के लिए 208 पारियां खेली थीं।

कोहली ने भी बना डाला रिकॉर्ड-

कप्तान रहते हुए सबसे तेज़ी से 5,000 रन पूरे करने वाले बल्लेबाजों की लिस्ट में कोहली का नाम सबसे ऊपर आ गया है। कप्तान रहते हुए उन्होंने मात्र 82 पारियों में 5,000 रनों का आंकड़ा पार कर दिया है। कप्तान के रूप में 5,000 हजार रन पूरे करने के लिए धोनी ने 127 पारियां खेली थीं, इसी के साथ धोनी दूसरे स्थान पर आ गए हैं। कप्तान रहते हुए सबसे तेज़ 5 हजार रन बनने के लिए रिकी पोंटिंग को 131 परियां, ग्रीम स्मिथ को 135 पारियां और सौरव गांगुली को 136 वन डे परियां खेलनी पड़ी थीं।   

इस मामले में द्रविड़ को भी छोड़ापीछे- 

घरेलूक्रिकेट में विराट की कप्तानी में टीम को कुल 31 में से 22 वनडे मैचों में जीत मिलीहै जबकि राहुल द्रविड़ की कप्तानी में टीम को 31 में से 21 मैचों में जीत मिली थी। लेकिनबता दें, घरेलू मैचों में सबसे ज्यादा जीत दिलाने के मामले में पहले स्थान पर माहीही हैं उन्होंने कुल 73 में से 43 मैचों में भारतीय टीम को जीत दिलाई। दुसरे स्थानपर अज़हरुद्दीन हैं जिन्होंने 73 में से 40 मैचों में टीम को जीत दिलाई। कोहली ऐसे हीआगे बढ़ते रहे, तो ये दोनों रिकॉर्ड भी टूट सकते हैं।

बतौर कप्तान सारे कप्तानों कोछोड़ा पीछे- 

इसमैच में बतौर कप्तान रन बनाने के मामले में कोहली ने धोनी को भी पीछे छोड़ दिया है।क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट (टेस्ट, वनडे और टी-20) में कैप्टन कोहली सबसे तेज रफ़्तारसे और सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय कप्तान बन गए हैं। उन्होंने मात्र 199 पारियोंमें 11,208 रन ठोक दिए हैं। जबकि धोनी को कप्तान रहते 11,207 रन बनाने के लिए 330 पारियांखेलनी पड़ी थीं। वहीं अजहरुद्दीन ने 330 पारियों में 8,095 रन बनाये और सौरव गांगुलीने अपनी 217 पारियों में 7643 रन बनाए।   

साथ ही टीम इंडियाकी यह घर पर 200वीं जीत है। सीरीज के आखिरी मैच में ऑस्ट्रेलिया ने 9 विकेट खोकर286 रनों का लक्ष्य दिया था। भारत ने 47.3 ओवर में ही मात्र 3 विकेट खोकर 289 रन बनादिए और ये मैच जीत लिया।

अब फिर शर्मा जी के लड़के पर आतेहैं-

दुनियामें सर्वाधिक शतक लगाने के मामले में भी रोहित दुनिया के चौथे बल्लेबाज बन गए हैं।वनडे क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज्यादा शतक सचिन तेंदुलकर के नाम पर हैं(49 शतक),उसके बाद नंबर 2 पर आते हैं, कोहली(43 शतक) फिर नंबर आता है, ऑस्ट्रेलिया के पूर्वकप्तान रिकी पोंटिंग का(30 शतक) और सनथ जयसूर्या को पछाड़ते हुए 29 शतक के साथ अब चौथेस्थान पर शर्मा जी पहुंच चुके हैं। सनथ के 28 शतक हैं. छठे नंबर पर नाम आता है हाशिमअमला का(27 शतक)।

Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com