2032 के ओलंपिक खेलों की मेजबानी ऑस्ट्रेलिया का ब्रिस्बेन करेगा

2032 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक की मेजबानी ऑस्ट्रेलियाई शहर ब्रिस्बेन करेगा, अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (International Olympic Committee) ने बुधवार को अपने कार्यकारी बोर्ड की सिफारिश को मंजूरी दे दी है।
2032 के ओलंपिक खेलों की मेजबानी ऑस्ट्रेलिया का ब्रिस्बेन करेगा

ब्रिस्बेन, जहां साउथ बैंक के तट पर बड़े परदे के आईओसी सत्र को देखने के लिए सैकड़ों लोग उमड़ पड़े थे, 1956 में मेलबर्न और 2000 में सिडनी के बाद खेलों की मेजबानी करने वाला तीसरा ऑस्ट्रेलियाई शहर बन गया है।

खबर की पुष्टि होते ही ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने कहा, "यह न केवल ब्रिस्बेन और क्वींसलैंड के लिए, बल्कि पूरे देश के लिए एक ऐतिहासिक दिन है, केवल वैश्विक शहर ही ओलंपिक को सुरक्षित कर सकते हैं, इसलिए यह हमारे Queensland और दुनिया में ब्रिस्बेन की स्थिति के लिए एक सम्मान जनक बात है।"

क्वींसलैंड राज्य की राजधानी पसंदीदा मेजबान थी, जिसे फरवरी में चुना गया था, और पिछले महीने कार्यकारी बोर्ड से आगे बढ़ गया था। ब्रिस्बेन के चयन का मतलब है कि ऑस्ट्रेलिया तीन अलग-अलग शहरों में ग्रीष्मकालीन ओलंपिक की मेजबानी करने वाला संयुक्त राज्य अमेरिका के बाद दुनिया का दूसरा देश बन गया है।

Brisbane Olympic Stadium
Brisbane Olympic Stadium

प्रधानमंत्री मॉरिसन ने कहा, "यह ऑस्ट्रेलिया के लिए एक बड़ी छलांग का भी प्रतीक है क्योंकि हम उन प्रमुख घटनाओं को देखते हैं जो आर्थिक विकास और सामाजिक लाभ सुनिश्चित करती हैं जो आने वाले वर्षों में गूंजेंगे।"

आपको बता दें, इंडोनेशिया, हंगरी की राजधानी, बुडापेस्ट, चीन, कतर के दोहा और जर्मनी के रुहर घाटी क्षेत्र समेत दुनिया के कई शहरों और देशों ने 2032 खेलों की मेजबानी में सार्वजनिक रूप से रुचि व्यक्त की थी। लेकिन IOC द्वारा अपनाई गई एक नई प्रक्रिया में, जो खुले तौर पर उम्मीदवारों को एक-दूसरे के खिलाफ खड़ा नहीं करती है, ब्रिस्बेन को पहले ही यानि फरवरी में ही पसंदीदा मेजबान के रूप में चुन लिया था। सभी प्रतिद्वंदी पहले ही पीछे छूट चुके थे।

ऑस्ट्रेलियाई ओलंपिक समिति के प्रमुख जॉन कोट्स, जो IOC के उपाध्यक्ष हैं। उन्होंने कहा, "ब्रिस्बेन ओलंपिक सबसे मेहनती, आभारी और उत्साही हाथों में होगा और मैं दुनिया के एथलीटों के लिए इस प्रतिबद्धता को मानता हूं, हम उन्हें एक अविस्मरणीय अनुभव देंगे।"

टोक्यो इस सप्ताह 2020 में स्थगित हो चुके ओलंपिक की मेजबानी करेगा और पेरिस 2024 खेलों की मेजबानी करेगा। लॉस एंजिल्स को 2028 ग्रीष्मकालीन ओलंपिक से सम्मानित किया गया है। फ़िलहाल भारत का दूर-दूर तक कोई हिसाब-किताब बनता दिखाई नहीं दे रहा।

Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com