ये पासवर्ड हो रहे हैं हैकिंग का शिकार, इसमें से कोई आपका तो नहीं?

ये पासवर्ड हो रहे हैं हैकिंग का शिकार, इसमें से कोई आपका तो नहीं?

Ashish Urmaliya | The CEO Magazine

पूरी दुनिया डिजिटलीकरण के पथ पर आगे बढ़ चुकी है। आज लोगों के पास कई तरह के ऑनलाइन अकाउंट्स होते हैं, जैसे- ऑनलाइन बैंकिंग, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स आदि से संबंधित। इन अकाउंट्स का उपयोग आप यूजरनेम व पासवर्ड के जरिये कर पाते हैं। बहुत सारे ऑनलाइन अकाउंट्स होने की वजह से कई बार आपको पॉसवर्ड याद रख पाने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसलिए आमतौर पर आप आसानी से याद होने वाले पासवर्ड बना लेते हैं। लेकिन हम आपको बता दें, इस तरह के आसान पासवर्ड रखना आपके लिए घातक साबित हो सकता है।

नैशनल साइबर सिक्यॉरिटी सेंटर (NCSC) ने हालिया एक रिपोर्ट जारी की है, जिसमें उन पासवर्ड्स की लिस्टिंग की गई है जिन्हें साइबर क्रिमिनल्स, हैकर्स द्वारा आसानी से क्रैक किया जा सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया का सबसे ज्यादा उपयोग में लाया जाने वाला कॉमन पासवर्ड '123456' है। जिसे काफी आसानी से क्रैक किया जा रहा है. इस लिस्ट में दुसरे नंबर जो कॉमनली यूज किया जाने वाला पासवर्ड है, वो है- '123456789'. इसके बाद 'qwerty', '1111111' और 'password' को असुरक्षित पॉसवर्ड्स की सूची में तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान पर रखा गया है। रिसर्च में पाया गया है कि, 123456 पासवर्ड यूज करने वाले यूजर्स की संख्या लगभग 2.5 करोड़ थी जो बाकी के पासवर्ड्स से कहीं अधिक है।

न्यूमेरिक पासवर्ड से हटकर कैरेक्टरस्टिक पासवर्ड्स की बात करें तो,  Ashley, Michael, Daniel, Jessica और Charlie ऐसे नाम हैं जो हैकर्स की नजरों में फेवरेट बनें हुए हैं। और आमतौर पर लोगों द्वारा अधिक उपयोग में लाये जा रहे हैं। इसके अलावा कुछ यूजर्स फुटबॉल टीम, बैटमैन और सुपरमैन जैसे सुपरहीरो और पोकेमॉन जैसे कार्टून कैरेक्टर को भी अपना पासवर्ड बनाते हैं। जिनकी पूरी जानकारी हैकर्स के पास है।

अगर आप भी उन लोगों में से एक है जो जल्दबाजी में इस तरह का पासवर्ड बना लेते हैं, तो अब सावधान हो जाइये। नैशनल साइबर सिक्योरिटी सेंटर के टेक्निकल डायरेक्टर डॉ. इयान लेवी के अनुसार, इस तरह के पासवर्ड्स का उपयोग करने वाले लोग सबसे पहले हैकर्स का शिकार बनते हैं. सिक्योरिटी एक्सपर्ट ट्रॉय हंट ने कहा कि, साइबर सिक्योरिटी का एक मात्रा विकल्प है सुरक्षित पासवर्ड चुनना।

Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com