घर बैठे बनायें अपना वोटिंग कार्ड, साथ ही पता करें वोटिंग लिस्ट में नाम है या नहीं। 

घर बैठे बनायें अपना वोटिंग कार्ड, साथ ही पता करें वोटिंग लिस्ट में नाम है या नहीं। 

Ashish Urmaliya | The CEO Magazine

2019 के लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं। हो सकता है चुनाव आयोग के कर्मचारियों ने वोटर लिस्ट की समीक्षा के चलते आपके घरों के चक्कर भी लगाने शुरू कर दिए हों। भारत एक लोकतांत्रिक देश है और वोट देना हमारे अधिकार के साथ-साथ एक बड़ा दायित्व भी है। देश के जिम्मेदार नागरिक होने के नाते, अगर किसी कारणवश आपके घर में चुनाव आयोग का कोई भी अधिकारी नहीं भी पहुंच पता है। तो हम सलाह देंगे, कि आप यह प्रक्रिया स्वयं ही पूरी कर लें। 

क्यों आता है चुनाव आयोग का अधिकारी?

चुनाव आयोग अधिकारी के पास एक लिस्ट होती है। जिसमें आपके परिवार के कुल सदस्यों का नाम दर्ज होता है, जो अब तक वोट करते आये हैं। इन पांच वर्षों के अंतराल में कई बार ऐसा होता है कि, घर में कोई नया सदस्य होता है जो वोट करने की उम्र पा चुका होता है, किसी सदस्य की मृत्यु हो जाती है, किसी का गलती से नाम कट जाता है या फिर कोई सदस्य किसी अन्य राज्य की वोटर लिस्ट में अपना नाम जुड़वा लेता है। बस इन्ही सब कारणों के चलते चुनाव आयोग अधिकारी अपनी लिस्ट को रिफ्रेश करने के लिए आपके घर आता है और परिवार के सदस्यों की मौजूदा जानकारी लेता है। फिर लिस्ट अपडेट हो जाती है।

अगर आपके घर पर कोई अधिकारी नहीं पहुंचता है। और आपको वोटर लिस्ट में अपनी या अपने परिवार के किसी सदस्य की जानकारी को लेकर किसी तरह का कोई संदेह है। तो आप यह पूरी प्रक्रिया आसानी से घर बैठे अपने स्मार्टफोन या कम्प्यूटर से इंटरनेट के जरिये पूरी कर सकते हैं। यह करने के लिए आपको कोई खास मशक्कत नहीं करनी है।

अगर आपको वोटर लिस्ट में खुद के नाम को लेकर कोई भी संदेह है। तो जानने के लिए ये करें-

:- सबसे पहले गूगल पर जाएं और https://www.nvsp.in/ साइट खोलें।

:- एंटर का बटन दबाते ही, राष्ट्रीय मतदाता सेवा पोर्टल खुलेगा। अब इस पेज के लेफ्ट साइड यानी बायीं तरफ एक बॉक्स दिखेगा, जहां search your name in Electroral का ऑप्शन दिखेगा, इस पर क्लिक करें।

:- एक नया पेज खुलेगा यहां पर अपना नाम देखने के लिए आपके पास दो तरीके होंगे। पहला-  आप अपना नाम या पति का नाम, उम्र, राज्य, लिंग, जिला, विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र दर्ज कर पता लगाएं कि, आपका नाम दर्ज है या नहीं।

:- दूरसे तरीके से पता लगाने के लिए इसी पेज की अगली स्लाइड पर जाएं और अपने वोटर आईडी कार्ड का नंबर एंटर करें। यह तरीका काफी आसान है।

:- इसके उलट अगर आप बिहार, आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु के निवासी हैं, तो यह जानकारी प्राप्त करने के लिए आपको सिर्फ एक मैसेज करना होगा। इसके लिए आपको अपने नंबर से ELE लिखने के बाद 10 अंकों वाला मतदाता पहचान संख्या लिखना होगा। इसके बाद इसे 56677 भेजें. क्षण मात्र में जानकारी आपके पास होगी।

वोटर लिस्ट में अपना नाम जोड़ने के लिए अपनाएं ये आसान तरीका:-

अगर आप 18 साल की उम्र पूरी कर चुके हैं या फिर किसी कारणवश आपका नाम वोटर लिस्ट से कट चुका है, तो अब इसके लिए आपको चुनाव आयोग के दफ्तर के महीनों चक्कर काटने की जरूरत नहीं है। आप घर बैठे अपने कम्प्यूटर या लैपटॉप के जरिये वोटर आईडी कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने के एक महीने भीतर ही आपको आपका कार्ड मिल जायेगा। ये रहे आवेदन करने के स्टेप्स:-

:- आवेदन करने के लिए आपके पास आधिकारिक (Personal) ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर होना जरूरी है।

:- इसके लिए भी आपको चुनाव आयोग की वेबसाइट https://www.nvsp.in/ पर जाना होगा।

:- एंटर करते ही पेज खुलेगा। सामने दिख रहे फॉर्म 6 पर क्लिक करें। क्लिक करते ही एक नया पेज खुलेगा जिसमें आपको मांगी गई जानकारी बड़ी ही सावधानी पूर्वक भरनी होगी।

:- अब अपनी वह कलर्ड फोटो अपलोड करें जिसका बैकग्राउंड सफेद हो।

:- इस फॉर्म में आपको एड्रेस प्रूफ और आईडी प्रूफ में अलग-अलग डॉक्यूमेंट्स की कॉपी भी अपलोड करनी होगी। इसके लिए आप आधार कार्ड, पासपोर्ट, दसवीं की मार्कशीट, बर्थ सर्टिफिकेट, पैन कार्ड, ड्राईविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, बैंक की पासबुक, फोन/पानी/बिजली/गैस का बिल, इनकम टैक्स का फॉर्म 16 आदि में से किन्हीं दो डॉक्यूमेंट्स की स्कैन कॉपी को अपलोड कर सकते हैं।

:- बस फॉर्म को सेव करिये और अपलोड कर दीजिये।

:- इस फॉर्म में किसी भी तरह का बदलाव करने के लिए आपके पास 15 दिन का वक्त होता है।

:- साथ ही आप होम पेज पर दिख रहे Application Status ऑप्शन पर क्लिक करके अपने आईडी कार्ड की जानकारी ट्रैक भी कर सकते हैं।

सभी तरह की जानकारी देने के बाद चुनाव आयोग के द्वारा नियुक्त किया गया, आपके एरिया का बूथ लेवल ऑफिसर (बीएलओ) आपके घर आएगा। और सभी अपलोड किये गए डाक्यूमेंट्स को वेरीफाई करेगा। वेरीफाई होने के कुछ दिनों बाद ही आपकी नागरिकता का सबसे बड़ा सबूत आपके पास होगा।

नोट- वोटर आईडी एक महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है, इसलिए मांगी गई सारी जानकारी सावधानी पूर्वक भरें। किसी भी तरह की गलत जानकारी देने पर चुनाव आयोग आपको जेल भी भेज सकता है। 

बदलवा सकते हैं अपना पता:- 

अगर आपका वोटर आईडी कार्ड पहले से बना हुआ है, लेकिन आप उस जगह पर रहते नहीं है। तो अब आप अपने नए पते पर इसका बदलाव करा सकते हैं। इसके लिए आपको चुनाव आयोग की वेबसाइट https://www.nvsp.in/ के होम पेज पर दिख रहे फॉर्म नंबर 8A के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा और वहां पर मांगी गई सारी जानकारी भर कर सबमिट करनी होगी। ऐसा करने से आपको वोट देने के लिए अपने मूल स्थान पर नहीं जाना पड़ेगा। चुनाव आयोग ने यह सुविधा खासतौर पर नौकरीपेशा लोगों को दी है, जिसके चलते अब उन्हें वोट डालने के लिए छुट्टी लेकर मूल स्थान पर नहीं जाना पड़ेगा। लेकिन ध्यान दें, आप यह बदलाव सिर्फ अपने निर्वाचन-क्षेत्र के अंतर्गत ही कर सकते हैं। इसके अलावा अगर आप अपने वोटर आईडी कार्ड की किसी भी जानकारी में बदलाव करना चाहते हैं। तो चुनाव आयोग की साइट के होम पेज पर दिख रहे फॉर्म नंबर 8 पर क्लिक कर उसे खोलें और नई जानकारी भर कर सबमिट कर दें। बदलाव हो जायेगा।

अंत में आपसे अनुरोध करना चाहेंगे, अगर आपके आस-पास ऐसा कोई व्यक्ति है जिसके पास कम्प्यूटर की सुविधा उपलब्ध नहीं है या फिर इस विषय का ज्ञान नहीं है, तो उसकी मदद करें। यह देशहित की बात है।

Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com