8D टेक्नोलॉजी: सुना है गाना सुनते सुनते किसी और दुनिया में पहुंच जाते हैं लोग! जानिए सबकुछ

8D टेक्नोलॉजी: सुना है गाना सुनते सुनते किसी और दुनिया में पहुंच जाते हैं लोग! जानिए सबकुछ

Ashish Urmaliya | The CEO Magazine

हो सकता है आपने भी 8D साउंड के बारे में सुना हो या यूट्यूब पर इस तरह के गाने सुने हों। जिन्होंने नहीं सुना पहले उनको बता दें, यह एक तरह का ऑडियो होता है जिसे सामान्य स्टीरियो हेडफ़ोन पर भी सुनने में ऐसा एहसास होता है जैसे, ध्वनि विभिन्न दिशाओं व अलग अलग दूरी से आ रही हो। यहां तक कि, गाने में जितने तरह के बाद्ययन्त्र उपयोग में लाये गए हैं हम उन सभी का एहसास भी विस्तृत रूप से कर पाते हैं।

क्या होता है 8D ऑडियो? इसमें D का मतलब क्या होता है?

जब भी आप यूट्यूब पर इस तरह के गाने सर्च करते हैं तो संभावना है कि, आपको 4D, 5D, 6D, 7D यहां तक कि 11 D तक के गाने दिख जाएं। हमने 8D का उदाहरण इसलिए लिए क्योंकि यह आजकल लोगों के बीच ज्यादा प्रचलन में है। आपको साफ शब्दों में बता दें, ये सभी D बस आपको भ्रमित करते हैं। इस तरह के गाने अपलोड करने वाले लोग आपके दिमाग के साथ खेलने की कोशिश करते हैं, इनका मानना होता है कि 7D, 8D  लिखने से आपको लगेगा कि, यह 3D से भी एडवांस टेक्नोलॉजी है। जबकि ऐसा कुछ भी नहीं होता। हम ध्वनि के बारे में बात कर रहे हैं, न कि स्ट्रिंग थ्योरी जिसे काम करने के लिए 11 डाइमेंशन्स की आवश्यकता होती है। असलियत में देखा जाये तो, इन ध्वनियों को 3D कहना ही काफी होगा। क्योंकि मुख्य रूप से डायमेंशन 3 ही होते हैं।दरअसल, 3D ऑडियो इफ़ेक्ट में साउंड इंजीनियर्स द्वारा विभिन्न ध्वनि, गूँज प्रकारों को साथ जोड़कर मिक्स किया जाता है. जिसका प्रभाव अद्भुत, इमर्सिव और वास्तविक बन जाता है।

ये बात सच है कि, साउंड मिक्सिंग के वक्त ध्वनि में विविधताएं आ सकती हैं। कोई ध्वनि ज्यादा प्रभावशाली हो सकती है तो कोई कम। लेकिन यह सब कुछ साउंड मिक्सर पर निर्भर करता है कि, वह इस क्षेत्र में कितना कुशल है और किस लेवल पर मिक्सिंग कर सकता है। आज कल कई तरह के 3D मिक्सिंग सॉफ्टवेयर भी आसानी से उपलब्ध हैं। इससे जुड़ा कोई भी सॉफ्टवेयर डाउनलोड करने वक्त आपको उसकी क्वालिटी का ध्यान रखना होगा, क्योंकि यहां भी D, D वाला खेल बहुत ज्यादा हो रहा है।

लेकिन हां, कुछ भी कहें 3D इफ़ेक्ट के गाने सुनने का आनंद कुछ अलग ही होता है। इसके लिए किसी स्पेशल हेडफोन या ईयर-फोन की जरूरत नहीं होती है। गाने को सामान्य स्टीरियो हेडफ़ोन में सुनने पर भी आपको किसी तरह की नॉइस (हल्ला) फील नहीं होगी. इसमें आपके कानों को सुकून मिलता है। आपको महसूस होगा कि, ध्वनि 360 डिग्री से आ रही है। एक गाने में जितने भी जितने इंस्ट्रूमेंट (वाद्य यंत्र) इस्तेमाल किए गए हैं, आपको उन सभी का एहसास होगा। यूट्यूब पर इस तहर के गानों का भंडार है। लेकिन, यूट्यूब पर इस तरह के गानों का लुत्फ उठाने के लिए आपके अंदर गुणवत्ता की परख होना बेहद जरूरी है। क्योंकि कुछ महारथियों ने यहां पर भी रायता फैला रखा है।

Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com