यज्ञवेदी में गीता के 18 अध्यायों में वर्णित श्लोकों से दी आहुतियां

श्रीरामानुज धाम में चल रहा धार्मिक अनुष्ठान
यज्ञवेदी में गीता के 18 अध्यायों में वर्णित श्लोकों से दी आहुतियां
यज्ञवेदी में गीता के 18 अध्यायों में वर्णित श्लोकों से दी आहुतियां

यज्ञवेदी में गीता के 18 अध्यायों में वर्णित श्लोकों से दी आहुतियां

दतिया। श्री रामानुज धाम आश्रम सहस्त्रफणधारी भगवान शेषनाग मन्दिर पर श्रीगीता जयंती के उपलक्ष्य में चल रहे हवन यज्ञ में गुरुवार को शामिल हुए यजमानों ने श्रीमद भगवत गीता के 18 अध्यायों में वर्णित श्लोकों से यज्ञवेदी में आहुतियां दी।

श्री रामानुज धाम आश्रम के अधिष्ठाता अनन्त श्री विभूषित स्वामी देवनायकाचार्य समदर्शी महाराज के सानिध्य में आश्रम पर गीता जयंती महोत्सव के तहत धार्मिक अनुष्ठान चल रहे हैं।

14 दिंसबर को गीता जयंती महोत्सव, पूर्णाहुति हवन, भंडारा होगा। गुरुवार को यजमान के रूप में धर्मेंद्र सिंह रावत डबरा, राजेन्द्र अग्रवाल कोटरा जिला जालौन, राजकुमार सिंह चौहान दिल्ली एवं शैलेंद्र बुन्देला सपत्नीक हवन में शामिल हुए।

धार्मिक अनुष्ठान धर्मगुरु पंडित राधाकृष्ण शुक्ला, भागवताचार्य एवं पंडित बाबूलाल दीक्षित जी के मार्गदर्शन में पंडित गौरव तिवारी, मुरलीधर शर्मा, आत्माराम दुबे, संजय उपाध्याय, उत्तम पाठक,आशु शर्मा मुरेरा, आकाश शर्मा, ब्रजेश पचौरी, हरिमोहन पांडेय के सहयोग से सम्पन्न हुआ। हवन पश्चात श्री मद भगवत गीता की आरती एवं स्वामी जी की आरती भक्तों द्वारा की गई एवं स्वामी जी से आशीर्वाद प्राप्त किया।

धार्मिक कार्यक्रम की व्यवस्था संचालन संचालन में सन्तोष कटारे, कृष्णकांत लिटौरिया, कप्तान राजा, उमादेवी, महेश राय बरुआसागर, पिंटू सेठ गुप्ता बड़ौनी एवं नीतेश वघेल सीतापुर का विशेष योगदान रहा।

समाधान

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

सरकारी योजना

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com