यह पहला अवसर है जब दतिया में फोटोग्राफी की प्रतियोगिता की गई-अरविंद उपाध्याय

दतिया की विरासत को फोटोग्राफी से दिखाया गया
यह पहला अवसर है जब दतिया में फोटोग्राफी की प्रतियोगिता की गई-अरविंद उपाध्याय
यह पहला अवसर है जब दतिया में फोटोग्राफी की प्रतियोगिता की गई-अरविंद उपाध्याय

दतिया। जिला प्रशासन द्वारा 4 मई को माँ पीतांबरा की जयंती एवं दतिया गौरव दिवस के अवसर पर आयोजित की जाने वाली सांस्कृतिक एवं साहित्यिक कार्यक्रमों के अंतर्गत कलेक्टर संजय कुमार के मार्गदर्शन में फोटोग्राफी की प्रतियोगिता बग्गी खाना मंच पर संपन्न हुई। इस प्रतियोगिता में दतिया की विरासत पुरातत्व एवं संस्कृति को दर्शाते हुए चित्र प्रदर्शित किए गए जिनको विभिन्न छायाकारों ने अपने कैमरे में कैद कर भेजा था। इन महत्वपूर्ण क्षेत्रों में दतिया की छात्रियां, महल, बावड़ी, मंदिर और किला के चित्रों को दर्शाया गया है।

कार्यक्रम के संयोजक महिला बाल विकास अधिकारी अरविंद उपाध्याय ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया और प्रदर्शित किए गए छाया चित्रों को उनके छायाकारों से महत्त्व की जानकारी हासिल की। दतिया गौरव दिवस के उपलक्ष्य में ऐसे कई चित्र यहां छायाकारों ने भेजें जिन से दतिया के इतिहास और पुरातत्व की जानकारी प्राप्त हुई है। प्रतियोगिता में प्रदर्शित किए गए चित्रों में से प्रथम द्वितीय तृतीय चित्रों को पुरस्कार दिया जाएगा इस अवसर पर संयोजक अरविंद उपाध्याय ने कहा कि यह पहला अवसर है जब दतिया में फोटोग्राफी की प्रतियोगिता की गई।

प्रदेश के गृहमंत्री डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा की परिकल्पना को साकार करते हुए दतिया गौरव दिवस के कार्यक्रम किए जा रहे हैं । इस अवसर पर सामाजिक न्याय विभाग से विनोद मिश्र ने प्रदर्शित चित्रों के इतिहास पर सभी को जानकारी दी कार्यक्रम में जिन छायाकारों ने अपने चित्रों का प्रदर्शन किया उनमें प्रमुख रूप से संजय रावत का चित्र इंद्रजीत का मकबरा, रवि भूषण खरे का शिवगिरी महंतों की समाधियां, अमन श्रीवास्तव का चित्र महल एवं उसका सौंदर्य तथा यूनियन रेडियो फोटोग्राफर का चित्र विजय गोविंद जी का मंदिर काफी सराहा गया अन्य छायाकारों के चित्र भी प्रदर्शित किए गए। बग्गी खाने में प्रदर्शनी का आयोजन प्रातः 11 बजे से किया गया।

कल पीतांबरा पीठ पर उत्तर द्वार के गलियारे में रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन है जिसमें महिलाएं एवं छात्राएं रंगोली प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए सादर आमंत्रित की गई है।इस अवसर पर कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास विभाग से संरक्षण अधिकारी धीर सिंह कुशवाह, राजीव चौबे, यशदीप सिंह, हेमंत नामदेव, आकाश श्रीवास्तकव, श्रीमती निधि श्रीवास्तंव मुख्यय रूप से उपस्थित रहीं।

सरकारी योजना

No stories found.

समाधान

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.