लाख प्रयास के बाद भी जिला अस्पताल की व्यवस्थाओं में नहीं हो रहा सुधार

मरीज हो रहे परेशान
लाख प्रयास के बाद भी जिला अस्पताल की व्यवस्थाओं में नहीं हो रहा सुधार
लाख प्रयास के बाद भी जिला अस्पताल की व्यवस्थाओं में नहीं हो रहा सुधार

दतिया जिला अस्पताल की व्यवस्थाएं सुधरने का नाम नहीं ले रही। नतीजा मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सिविल सर्जन के लाख प्रयास करने के बाद भी डॉक्टर व कर्मचारी जिम्मेदारी से अपनी ड्यूटी नहीं कर रहे हैं। इमरजेंसी वार्ड ट्रामा सेंटर में सुबह के समय ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर कभी भी अपनी कुर्सी पर नहीं बैठते हैं। बल्कि डॉक्टर अंदर एससी रूम में बैठे रहते हैं। जब कोई मरीज इलाज कराने आता है तो उसे काफी परेशानी होती हैं। सुबह के समय ड्यूटी डॉक्टरों का यह हाल है तो रात के समय कैसी स्थिति होती होगी। नवप्रभात की टीम ने दो दिन लगातार आज और कल सुबह के समय अस्पताल की स्थिति देखी तो दोनों ही दिन ट्रामा सेंटर के इमरजेंसी वार्ड में तैनात ड्यूटी डॉक्टर अपनी सीट पर बैठे नहीं मिले। सिविल सर्जन डॉ केसी राठौर कई बार डॉक्टरों व कर्मचारियों से कह चुके हैं कि ड्यूटी के दौरान सभी लोग अपनी जगह पर मौजूद रहे। ताकि मरीजों को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो।

सरकारी योजना

No stories found.

समाधान

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com