CEO को बनाया उत्तराधिकारी, इसी साल रिटायर हो जायेंगे अलीबाबा ग्रुप के संस्थापक ‘जैक मा’ 

CEO को बनाया उत्तराधिकारी, इसी साल रिटायर हो जायेंगे अलीबाबा ग्रुप के संस्थापक 'जैक मा' 

Ashish Urmaliya | The CEO Magazine

दुनिया के बिज़नेस जगत से एक बड़ी खबर आ रही है, बीते सोमवार को चीन और दुनिया के मशहूर उद्योगपति 'जैक मा' ने अपने उत्तराधिकारी का ऐलान कर दिया है। बता दें, जैक मा चीन की ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के संस्थापक हैं और इसी वर्ष वह कंपनी की कार्यकारी चैयरमेन पद से सेवानिवृत्त होंगे। अलीबाबा के स्वामित्त्व वाले अखबार साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट के अनुसार, 54 वर्षीय जैक मा 46 वर्षीय डेनियल झांग को अपना उत्तराधिकारी बनाएंगे। जैक मा ने अपने सभी कर्मचारियों को एक पत्र लिखा है, जिसमें कहा है कि, झांग 10 सितंबर 2019 को कंपनी के कार्यकारी चेयरमैन के पद पर पदोन्नत होंगे।  जबकि जैक मा कंपनी के निदेशक मंडल के निदेशक और अलीबाबा पार्टनरशिप के स्थायी सदस्य बने रहेंगे।

भारत में जो जैक मा को नहीं जानते उनको बता दें, UC ब्राउज़र इन्ही का है। फ़ोर्ब्स की 2019 की रिच लिस्ट के अनुसार जैक मा 3,920 करोड़ अमरीकी डालर की नेट वर्थ के साथ दुनिया के 21वें सबसे अमीर व्यक्ति हैं। जैक ने सेवा निवृत्ति की यह घोषणा अपने जन्मदिन (1 अप्रैल 2019) की है। हालांकि, "सुलभ और सफल" बदलाव सुनिश्चित करने के लिये जैक मा एक वर्ष की अवधि के लिये अलीबाबा ग्रुप के कार्यकारी चेयरमैन बने रहेंगे। साथ ही, 2020 में शेयरधारकों की बैठक तक कंपनी के निदेशक रहेंगे।

चीन के सबसे अमीर शख्सियतों में से एक जैक मा का जीवन बहुत परिश्रम भरा रहा है। इन्होने अपनी शुरुआत बिलकुल शुन्य से की थी. इनकी प्रेरणादायक सफलता की कहानी से पूरी दुनिया प्रेरित होती है। जिस व्यक्ति ने टूरिस्ट गाइड का काम किया, जिस व्यक्ति को KFC जैसी कंपनी ने नौकरी देने से मना कर दिया, जिस व्यक्ति को सैकड़ों रिजेक्शन्स मिले। आज पूरी दुनिया में उसकी सफलता की चर्चाएं हैं और वह एक प्रेरणादायक व्यक्तित्व के रूप में हमारे बीच है। आइये नजर डाल लेते हैं, उनके द्वारा कही गई कुछ प्रेरणा दायक बातों पर-

कभी हार मत मानो। आज कठिन है, कल और भी बुरा होगा, लेकिन आने वाले कल में आपके सामने सफलता होगी। 

मुझे राजस्व (रेवेन्यू)की परवाह नहीं है। 

में ये नहीं चाहता कि कोई मुझे पसंद करें, में चाहता हूं, कि वह मेरी इज्जत करे।

आपके पास जो बहुत महत्वपूर्ण चीज होनी चाहिए वह है 'धैर्य'

आपको अपने प्रतियोगी से सीखना चाहिए लेकिन कभी भी उसकी कॉपी नहीं करना चाहिए। कॉपी की और वहीं अंत है।

हम कभी पैसे की कमी में नहीं होते। हमारे पास सपनों को पालने वाले और उन सपनों के लिए मर मिटने वाले लोगों की कमी है।

यदि जमीन पर नौ खरगोश हैं और आप, एक को पकड़ना चाहते हैं, तो बस एक पर ध्यान केंद्रित करें।

एक नेता को दूरदर्शी होना चाहिए और एक कर्मचारी की तुलना में अधिक दूरदर्शिता होनी चाहिए।

अपने प्रतिद्वंद्वियों को भूल जाएं, बस अपने ग्राहकों पर ध्यान केंद्रित करें।

यदि आप हार नहीं मानते हैं, तो आपके पास अभी भी एक मौका है।

– सही लोगों को खोजने की कोशिश करें, न कि सबसे अच्छे लोगों को।

– ऐसे अवसर, जो हर किसी को दिखाई नहीं देते, वही वास्तविक अवसर होते हैं।

– आपका दृष्टिकोण आपकी क्षमताओं से अधिक महत्वपूर्ण है। इसी तरह, आपका निर्णय आपकी क्षमताओं से अधिक महत्वपूर्ण है।

– केवल मूर्ख ही बोलने के लिए अपने मुंह का उपयोग करते हैं। एक चतुर व्यक्ति अपने मस्तिष्क का उपयोग करता है, और एक बुद्धिमान व्यक्ति अपने दिल का उपयोग करता है।

Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com