भूसा बनाने वाली मशीन से निकली चिंगारी ने ताण्डव मचा दिया,देखते ही देखते चारों तरफ  आग फैली
भूसा बनाने वाली मशीन से निकली चिंगारी ने ताण्डव मचा दिया,देखते ही देखते चारों तरफ आग फैली

भूसा बनाने वाली मशीन से निकली चिंगारी ने ताण्डव मचा दिया,देखते ही देखते चारों तरफ आग फैली

ग्राम कामद में भूसा बनाने वाली मशीन से निकली आग,पांच एकड़ खड़ी गेहूं की फसल जलकर राख,

दतिया। दतिया जिले के उनाव थाना क्षेत्र ग्राम कामद में भूसा बनाने वाली मशीन से निकली चिंगारी ने रविवार दोपहर को ताण्डव मचा दिया। देखते ही देखते चारों ओर आग फैल गई और खेत में पांच एकड़ में खड़ी गेहूं की फसल जल कर राख हो गई और लाखों रुपए की फसल खाक हो गई। आग की चपेट में आकर जलती फसलों को देख किसानों में हाहाकार मच गया। गांव के लोगों ने आग बूझाने का प्रयास किया।आग लगने की सूचना मिलते ही उनाव थाना प्रभारी अमर सिंह गुर्जर को सूचना मिली तो पुलिस बल के साथ ग्राम कामद पहुंचें तत्काल दतिया और भांडेर फायर ब्रिगेड की गाड़ी बुलाई फायर ब्रिगेड के काफी प्रयास किया लेकिन खड़ी फसल खाक हो गई। गांव में जहां एक तरफ कटाई चल रही थी उसी समय भूसा बनाने वाली मशीन एक खेत में भूसा बना रही थी। दिन में करीब 12 बजे भूसा बनाने वाली मशीन से निकली चिंगारी से फसल में आग लग गई। जब तक ग्रामीण आग पर काबू पाते तेज हवाओं के चलते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। देखते ही देखते गांव के खेतों तक पहुंच गई। खड़ी फसल धूं-धूं कर जलने लगी। सूचना मिलते ही मौके पर पटवारी पहुंचे तो आग लगने के बाद फायर ब्रिगेड की दो गाड़ी पहुंची तब तक आग काबू के बाहर हो चुका था।

ब्रिगेड की दो गाड़ीयों भूसा बनाने वाली मशीन में लगी आग को बुझाया।

आंखो के सामने लाखों की फसल जलता देख फफक पड़े किसान

फसल आग लगने की खबर मिलते ही कई गांव के लोग मौके पर पहुंच गए।कामद गांव निवासी महिला अपनी आंखों के सामने खेत लाखों रुपए की खड़ी फसल को जलते देख फफक फफक कर रोने लगे। आग की लपटों को फैलता देख गांव के लोग ट्रैक्टर लेकर खेत की ओर चल दिए और अंधाधूंत खेत में खड़ी गेहूं की फसल को बचाने के लिए खेत की जुताई शुरू कर दिए। लेकिन जब तक फसल जलकर राख हो गई। मौके पर पहुंचे उनाव थाना प्रभारी अमर सिंह गुर्जर पुलिस बल के साथ पहुंचे पीड़ित किसानों को सांत्वना दिया।इन किसानों के खेत में खड़ी फसल में लगी आग हरदास पाल,अतराम पाल, प्रीतम पाल,बालीकदास पाल, लालाराम पाल, महेंद्र पाल के खेत में लगी आग से परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है। खड़ी फसल में लगी आग से परिजनों का भर पोषण कैसे होगा, प्रशासन से मदद कि गुहार लगाई।

Related Stories

No stories found.
logo
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com