दिव्यांग बच्चों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने का सबसे अच्छा माध्यम है खेल-गौरव उपाध्याय

दिव्यांग बच्चों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने का सबसे अच्छा माध्यम है खेल-गौरव उपाध्याय
दिव्यांग बच्चों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने का सबसे अच्छा माध्यम है खेल गौरव उपाध्याय
दिव्यांग बच्चों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने का सबसे अच्छा माध्यम है खेल गौरव उपाध्याय
दिव्यांग बच्चों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने का सबसे अच्छा माध्यम है खेल गौरव उपाध्याय

दिव्यांग बच्चों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने का सबसे अच्छा माध्यम है खेल गौरव उपाध्याय

वैभव खरे की खास रिपोर्ट


दतिया। दिव्यांग बच्चों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने का सबसे अच्छा माध्यम है कि खेलों के माध्यम से उनका सर्वांगीण विकास कर समाज की मुख्यधारा से जुड़ कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाया जाए अपने इस लक्ष्य को आगे बढ़ाते हुए स्पेशल ओलंपिक भारत मध्य प्रदेश की दतिया इकाई का एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम संपन्न हुआ जिसमें एलईडी स्क्रीन के माध्यम से स्पेशल ओलंपिक के बारे में जानकारी प्रदान की गई, नवीन कार्यकारिणी का शपथ ग्रहण भी आयोजित किया गया |

कार्यक्रम की अध्यक्षता स्पेशल ओलंपिक भारत मध्य प्रदेश की दतिया इकाई के अध्यक्ष एवं वरिष्ठ खिलाड़ी कुंवर विजय बुंदेला एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के शाखा प्रबंधक श्री गौरव उपाध्याय एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में स्पेशल ओलंपिक के जिला प्रभारी वैभव खरे मौजूद रहे कार्यक्रम में सर्वप्रथम महर्षि दधीच के चित्र पर माल्यार्पण कर विधिवत शुरुआत की गई अपने उद्बोधन में श्री उपाध्याय जी द्वारा कहा गया कि स्पेशल ओलंपिक बहुत ही सराहनीय कार्य कर रही है और मेरे व्यक्तिगत सहयोग के लिए मैं हर समय तत्पर रहूंगा |

अपने उद्बोधन में श्री बुंदेला जी द्वारा स्पेशल ओलंपिक से जोड़कर अपना सामाजिक दायित्व निभाए श्री खरे के द्वारा बताया गया कि कोरोना महामारी के चलते हुए स्पेशल ओलंपिक की विभिन्न प्रतियोगिता वर्चुअल रूप से आई वेट हुए थे परंतु अब सीकरी हम खिलाड़ियों के साथ मैदान पर प्रतियोगिता आयोजित करेंगे

समाधान

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

सरकारी योजना

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com