अब ATM के जरिये क्लियर होगा ‘चेक’, एक मिनट में हो जाएगी पेमेंट   

अब ATM के जरिये क्लियर होगा 'चेक', एक मिनट में हो जाएगी पेमेंट   

Ashish Urmaliya | The CEO Magazine

टेक्नोलॉजी का दौर अपने चरम पर है, आये दिन नए तरह के बदलाव आ रहे हैं जो सुख-सुविधाओं ने भरे हैं। हाल ही में एक ऐसी एटीएम मशीन तैयार की गई है जिससे आप पैसे निकालने के साथ-साथ अपने चेक को भी क्लियर कर पाएंगे वो भी सिर्फ एक मिनट के अंदर।  ये मशीन आपको चेक में उल्लेखित राशि का भुगतान हाथों-हाथ कर देगी।

मौजूदा स्थिति में आपको अपना चेक क्लियर कराने के लिए बैंक के चक्कर काटने पड़ते हैं, जिस प्रक्रिया में 3 से 4 दिन का वक्त लगता है। लेकिन अब वो दिन दूर नहीं जब आप सिर्फ एक क्लिक के जरिये अपना चेक क्लियर कर पाएंगे।  इस नए तरह की एटीएम मशीन से आप आसानी से अपना खता भी खोल पाएंगे। मतलब बैंक सखाओं में हो रहा लगभग सारा काम अब इस मशीन के ज़रिये हो पायेगा।

आपको बता दें, इस विशेष एटीएम मशीन का आविष्कार 'एनसीआर कॉरपोरेशन' नाम की कंपनी ने किया है। यह कंपनी देश के प्रमुख बैंकों के लिए एटीएम मशीन बनाने व इनस्टॉल करने का काम करती है। एनसीआर कॉरपोरेशन अपनी इस विशेष मशीन को जल्द ही लांच करने की तैयारी में है। फिलहाल कंपनी ने बंगलूरू और गुरुग्राम के कुछ निजी बैंकों में अपनी इस मशीन को ट्रायल पर लगा रखा है।

इस एटीएम मशीन के जरिये अपना चेक प्रोसेस करने के लिए आपको बैंक स्टाफ की मदद लेनी होगी। मशीन में लगे स्कैनर पर अपने डाक्यूमेंट्स स्कैन करके आप खुद को वेरीफाई कर पाएंगे। इसके अलावा आपको एटीएम स्क्रीन पर अपने हस्ताक्षर भी स्कैन कराने होंगे। यह वेरिफिकेशन प्रक्रिया पूरी होने के बाद चेक में दी गई राशि का भुगतान मशीन द्वारा एक मिनट के अंदर कर दिया जायेगा।

एनसीआर कॉरपोरेशन कंपनी ने 30 से 50 लाख के बीच की कीमत वाली तीन तरह की मशीनें बनाई हैं, जिनके द्वारा अलग-अलग तरह की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। जैसे-

1 – आप अपना बैंक खाता खुद खोल पाएंगे।

2 – खाता खुलते ही उसी वक्त आपको डेबिट कार्ड जारी कर दिया जायेगा।

3 – आपके सिग्नेचर का आटोमेटिक वेरिफिकेशन हो जायेगा।

4 – साथ ही फंड ट्रांसफर, बिल पेमेंट, मोबाइल टॉप अप जैसी सुविधाएं भी उपलब्ध होंगी।

समाधान

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

सरकारी योजना

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com