नोरोवायरस: इंग्लैंड में 154 मामले सामने आए, इस वायरस के बारे में जानना बेहद ज़रूरी है

कोरोनावायरस महामारी के बीच, वायरस का एक अत्यधिक संक्रामक समूह, नोरोवायरस (Norovirus) सुर्खियों में बना हुआ है। इंग्लैंड में अब तक नोरोवायरस के लगभग 154 मामले सामने आ चुके हैं।
नोरोवायरस: इंग्लैंड में 154 मामले सामने आए, इस वायरस के बारे में जानना बेहद ज़रूरी है

कोरोनावायरस महामारी के बीच, वायरस का एक अत्यधिक संक्रामक समूह, नोरोवायरस (Norovirus) सुर्खियों में बना हुआ है। इंग्लैंड में अब तक नोरोवायरस के लगभग 154 मामले सामने आ चुके हैं। रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (the Central for Disease Control and Prevention) के अनुसार, नोरोवायरस के सामान्य लक्षणों में दस्त, उल्टी, मतली और पेट दर्दनोरोवायरस क्या है?

Central for Disease Control and Prevention (सीडीसी) के अनुसार, नोरोवायरस अत्यधिक संक्रामक वायरस का एक समूह है जो उल्टी और दस्त का कारण बनता है। इसे शीतकालीन उल्टी बग भी कहा जाता है। नोरोवायरस से संक्रमित लोग अरबों वायरस कणों को प्रसारित कर सकते हैं, लेकिन उनमें से कुछ ही कण लोगों को बीमार कर पाते हैं।

नोरोवायरस का संक्रमण कैसे फैलता है?

नोरोवायरस उस व्यक्ति को संक्रमित कर सकता है जो दूषित भोजन या पानी का सेवन करता है या किसी दूषित सतह को छूता है और फिर बिना हाथ धोए उसके हाथ मुंह के संपर्क में आते हैं। संक्रमित व्यक्ति के सीधे संपर्क में आने वाला व्यक्ति भी इससे संक्रमित हो सकता है। यह वायरस उसी तरह फैलता है जैसे सामान्य मानव वायरस मानव शरीर में प्रवेश करते हैं।

क्या कोई नोरोवायरस से बार-बार संक्रमित हो सकता है?

CDC के अनुसार, विभिन्न प्रकार के नोरोवायरस होते हैं और एक व्यक्ति उसके किसी एक प्रकार से संक्रमित हो जाता है जो उसे अन्य प्रकारों के खिलाफ प्रतिरक्षा प्रदान नहीं करता है। इसलिए कोई भी व्यक्ति इससे कितने भी बार संक्रमित हो सकता है।

नोरोवायरस संक्रमण के प्रसार को कैसे रोका जा सकता है?

लगातार हाथों को धोते रहना वायरस के प्रसार को रोकने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है। शौचालय का उपयोग करने, दूषित सतहों का उपयोग करने, खाने से पहले, डायपर बदलने या भोजन तैयार करने के बाद अपने हाथ धोना बेहद ज़रूरी है।

उपचार की बात कर लेते हैं...

विशेषज्ञों के अनुसार, नोरोवायरस के लिए कोई विशिष्ट दवा नहीं है। हालांकि बहुत सारे तरल पदार्थ पीने से दस्त और उल्टी से खोए हुए तरल पदार्थ को बदलकर लक्षणों को दूर करने में मदद मिल सकती है। यह तरीका बॉडी में डीहाइड्रेशन को रोकने में मदद करता है। शामिल हैं।

Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com