मोंठ : सप्ताहिक बंदी दिवस को भी खुल रहा मोंठ का बाजार, नियमों को ताक पर रखकर व्यापारी खोल रहे दुकानें

देख कर भी मौन है प्रशासनिक अमला
मोंठ : सप्ताहिक बंदी दिवस को भी खुल रहा मोंठ का बाजार
मोंठ : सप्ताहिक बंदी दिवस को भी खुल रहा मोंठ का बाजार

सप्ताहिक बंदी दिवस को भी खुल रहा मोंठ का बाजार,

नियमों को ताक पर रखकर व्यापारी खोल रहे दुकानें,

देख कर भी मौन है प्रशासनिक अमला।

मानव जनित प्रदूषण से प्राकृतिक पर्यावरण पर बड़ा ही घातक असर होता है जिसमें बाजारों में वाहन एवं जनता की उम्र की भीड़ से वायु प्रदूषण ध्वनि प्रदूषण सहित अन्य सभी प्रकार के प्रदूषण फैलते हैं। लोग बाजार से तमाम प्रकार की खरीदारी करते हैं जिसमें पॉलिथीन आदि कूड़े कचरे के रूप में बाजारों में फैल जाता है। जो मानव स्वास्थ्य सहित पर्यावरण को बुरी तरह से प्रभावित करता है।

समस्या को कम करने के लिए प्रशासन ने साप्ताहिक बंदी दिवस के रूप में बाजारों को सप्ताह में 1 दिन बंद रखने का उपयोगी कदम उठाया। जिसमें जिला प्रशासन ने आदेश दिए थे कि साप्ताहिक बंदी दिवस को जिन बाजारों में बंदी निर्धारित की गई है वहां दुकाने व प्रतिष्ठान आदि नहीं खुलेंगे। जिसमें जिला झांसी के मोठ बाजार में गुरुवार के दिन साप्ताहिक बंदी के तहत दुकानें व वाणिज्यिक प्रतिष्ठान बंद होना तय किया गया है।

परंतु प्रशासन के आदेशों को दरकिनार करते हुए, नगर के बाजारों में धड़ल्ले से दुकाने खोली जाती हैं।

जिसमें वस्त्र, किराना, इलेक्ट्रॉनिक, खानपान आदि सभी प्रकार की दुकानें साप्ताहिक बंदी दिवस के दिन भी खुली मिल जाएंगी। प्रशासन के नियमों के अनुसार गुरुवार के दिन मोंठ के बाजारों में सभी दुकानें बंद होनी चाहिए, लेकिन दुकानें खुली रहती हैं। व्यापारी दुकानदार प्रशासन के नियमों को ताक पर रखकर दुकानें खोल रहे हैं। इससे अधिक अचरज की बात तो यह है कि इस पर तहसील स्तरीय प्रशासन जरा भी गौर नहीं दे रहा। और सब देख कर प्रशासनिक अमला मॉल बना हुआ है ।

सरकारी योजना

No stories found.

समाधान

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com