विधिक जागरूकता शिविर आयोजित।

मौलिक अधिकारों के साथ-साथ कर्तव्यों की जानकारी होना आवश्यक है-: सुश्री पूजा विजयवर्गीय
विधिक जागरूकता शिविर आयोजित।
विधिक जागरूकता शिविर आयोजित।

दतिया|राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं म0प्र0 राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देशानुसार एवं माननीय प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं अध्यक्ष श्री आर.पी.शर्मा के निर्देशानुसार एवं जिला जज एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दतिया श्री मुकेश रावत जी के मार्गदर्शन में आज दिनांक:28 अप्रैल 2022 को शासकीय विधि महाविद्यालय दतिया में मूल अधिकार विषय पर विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया।

सुश्री पूजा विजयवर्गीय व्यवहार न्यायाधीश दतिया द्वारा जानकारी देते हुए बताया कि मौलिक अधिकार उन अधिकारों को कहा जाता है,जो व्यक्ति के जीवन के लिए मौलिक होने के कारण संविधान द्वारा नागरिकों को प्रदान किए जाते हैं।जिनमें राज्य द्वारा हस्तक्षेप नहीं किया जाता है। ये एक ऐसे अधिकार हैं, जो व्यक्ति के व्यक्तित्व के पूर्ण विकास के लिए आवश्यक हैं।और इनके बिना मनुष्य अपना पूर्ण विकास नहीं कर सकता।भारतीय संविधान में प्रत्येक व्यक्ति को समानता का अधिकार प्राप्त है।भारतीय संविधान में 06 प्रकार के मूल अधिकार दिए गए हैं।परंतु हमें मूल अधिकारों के साथ-साथ अपने कर्तव्य का भी ध्यान रखना चाहिए।

श्री बी0एम0 सिंह जिला विधिक सहायता अधिकारी द्वारा जानकारी देते हुए बताया कि मौलिक अधिकार प्रत्येक व्यक्ति को समान रूप से प्राप्त होते हैं,और हमे मौलिक अधिकारों से वंचित नहीं कर सकता है,मौलिक अधिकार भारतीय संविधान के अनुच्छेद 12 से 35 तक उपलब्ध हैं,हमें अपने मौलिक अधिकारों के साथ साथ अपने मूल कर्तव्य का पालन करना चाहिए।

प्राचार्य श्री आशुतोष राय द्वारा जानकारी देते हुए बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा समय समय पर विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया जाता है,इसका मुख्य उद्देश्य है,कानून के प्रति लोगो को जागरूक करना।पहले हम स्वयं जगरूक होंगे,साथ ही लोगो को जागरूक करेगे।

विधिक साक्षरता शिविर का संचालन प्रो0 किरण बाला एवं आभार प्रदर्शन डॉ0 सूर्या शर्मा द्वारा किया गया।

उक्त आयोजित शिविर में सुश्री शिल्पी व्यास ग्रंथपाल,श्री बृजमोहन शर्मा क्रीड़ाधिकारी, सत्येन्द्र दिसोरिया,सुभाष दाँगी,आदिल खान,शैलेन्द्र यादव,रोहित योगी,विकाश श्रीवास्तव,अनुज सक्सेना,आयुष लिटोरिया,लक्षमण अहिरवार,सूर्यप्रताप पाठक,अंकुश कुशवाहा,नरोत्तम योगी,सुश्री रुही खान,रानी यादव,अंकिता श्रीवास्तव, रमा प्रजापति,शालिनी गुर्जर,शिवानी वाल्मीकि,सोमिया दाँगी,रक्षा जाटव,शिल्पी शाहू, मिल्की शर्मा,समीक्षा दुवे,सहित छात्र/छत्राये उपस्थित रहे।

सरकारी योजना

No stories found.

समाधान

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com