कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए जिला क्राईसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक सम्पन्न

रोको-टोको अभियान संचालित होगा
कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए जिला क्राईसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक सम्पन्न
कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए जिला क्राईसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक सम्पन्न

कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए जिला क्राईसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक सम्पन्न

दतिया।कलेक्टर संजय कुमार ने कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए जिले में की जाने वाली तैयारियों एवं लोगों को जागरूक किए जाने हेतु बुधवार को न्यू कलेक्ट्रेट के वीसी कक्ष में जिला स्तरीय क्राइसिस ग्रुप की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में सर्व सम्मति से तय किया गया कि जिले में कोरेाना के संक्रमण को रोकने हेतु पूर्व की भांति रोको-टोको अभियान संचालित कर लोगों को मास्क लगाने, हाथों को सेनेटाईज करने, सोशल डिस्टेंस का पालन करने के साथ लोगों को भीड़-भाड़ वाले ईलकों में न जाने की सलाह दी जावे।

बैठक में पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौड़, अपर कलेक्टर रूपेश उपाध्याय, डिप्टी कलेक्टर अरविन्द माहौर, मेडीकल कॉलेज के डीन डॉ. राजेश गौर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आरबी कुरेले, डॉ. रामजी खरे, श्रीमती रंजना भटनागर, गोविन्द ज्ञानानी, पुनीत टिलवानी, जगत शर्मा, भानू शर्मा, विजय सचदेवा, राजू त्यागी, राकेश भार्गव, सुनील कुमार कुकरेजा, श् संप्रेष यादव, सिस्टर हेलेन मैथेस आदि उपिस्थत थे।कलेक्टर ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेस के जरिए दिए गए निर्देशों के अनुरूप जिले में हमें सभी के सहयोग से कोरोना की तीसरी लहर को रोकना है इसके लिए हमें लोगों को सावधानी एवं सतर्कता वरतने हेतु प्रेरित करना होगा। उन्होंने कहा कि जिले के भीड़-भाड़ वाले ईलाकों, लंबी दूरी से बसो से आने वाले यात्रियों के सैम्पलिंग की व्यवस्था की जायेगी। उन्होंने कहा कि लोगों को जागरूक करने हेतु समाज के धर्म गुरूओं, समाजसेवियों, जनप्रतिनिधियों का भी सहयोग लिया जायेगा।

कलेक्टर ने कहा कि जिस प्रकार पूर्व में भी कोरोना के संक्रमण को रोकने हेतु रोको-टोको अभियान के माध्यम से मास्क लगाने, हाथों को सेनेटाईज करने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने हेतु अभियान पुनः शुरू किया जायेगा। उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं मेडीकल कॉलेज के डीन को निर्देश दिए कि उनके यहां स्थित मेडीकल ऑक्सीजन प्लांट सुचारू रूप से संचालित रहे साथ ही दवाओं, बैड, वेंटीलेटर, ऑक्सीजन कंसीलेटर के साथ ही रेमडेसीवर इंजेक्शन की समूचित व्यवस्था रखी जाए। ऑक्सीजन प्लांट की मॉकड्रिल की जाए। ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली पाईप लाईन लीकेज न हो। आरटीपीसीआर से सैम्पलिंग बढ़ाई जावे।कलेक्टर ने बैठक में बताया कि कोविड-19 संक्रमण से मृत्यु होने पर मृतक के वारिसाना को 50 हजार रूपये की अनुग्रह राशि देने के शासन के निर्देशों के तहत् जिले में 13 प्रकरणों में आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है।

सरकारी योजना

No stories found.

समाधान

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com