२५ दिसंबर को भेल में मनाया गया सुशासन दिवस

कवियों ने अपनी कविताओं से देश के शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पित किये
२५ दिसंबर को भेल में मनाया गया सुशासन दिवस

२५ दिसंबर को भेल में मनाया गया सुशासन दिवस

२५ दिसंबर को पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के जन्म दिवस को सुशाशन दिवस के रूप में भेल आरामशीन सिमरवारी स्थित लव कुश वाटिका में प्रतिनिधि मंथन द्वारा आयोजित कार्यक्रम "एक शाम शहीदों के नाम" बड़े ही धूम धाम से मनाया गया| जिसमें अखिल भारतीय स्तर के कवियों ने अपनी कविताओं से देश के शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पित किये, तथा विभिन्न रस के कवियों द्वारा राष्ट्र भक्ति पूर्ण रचनाओं के द्वारा कार्यक्रम को उचाईओं पर पहुँचाया| उपस्थित जन समूह ने तालियों की गड़गड़ाहट से कवियों का उत्साहवर्धन किया| हास्य, व्यंग एवं गीतों के द्वारा कवियों ने भी खूब वाह वाही लूटी |

कार्यक्रम में उपस्थित कवियों के नाम इस प्रकार हैं - श्री मदन मार्तण्ड, श्री संजीव दुबे, श्री दिनेश गुरुदेव, श्री राम कुमार पांडेय "झटपट", श्री सुमित ओरछा, श्रीमति मोनिका पांडेय, श्री मोहन लाल सोनी, श्री वैभव दुबे, श्री प्रताप नारायण दुबे "बुंदेली", श्री राजेश तिवारी "मक्खन", डॉ संतोष मिश्र "अभिनव"|

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री ओम नारायण जी और विशिस्ट अतिथि डॉ मुकुल पस्तोर जी थे | कार्यक्रम में विशेष अतिथि के नाते रिटायर्ड कर्नल वनवीर सिंह जी को बुलाया गया था |

कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री मदन मार्तण्ड जी ने की तथा सफल संचालन डॉ संतोष मिश्र जी ने किया|

कार्यक्रम के सफल आयोजन में श्री विपिन गुप्ता जी, शिवमोहन, तरुण समाधिया, उपेंद्र, मनीष, रमाकांत, जयहिंद, विक्की अदि का योगदान रहा |

अंत में प्रतिनिधि मंथन की ओर से श्री रमाकांत पांडेय जी ने सभी कवियोँ , श्रोताओं, कार्यकर्तओं, मीडिया एवं व्यापार मंडल के सभी प्रतिनिधिगण को उनके सहयोग एवं समय के लिए आभार व्यक्त किया|

समाधान

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

सरकारी योजना

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com