जेएनयू में पढ़कर दुनियाभर में अपना नाम रौशन करने वाली शख्सियतों को जान लीजिये!

जेएनयू में पढ़कर दुनियाभर में अपना नाम रौशन करने वाली शख्सियतों को जान लीजिये!

Ashish Urmaliya ||Pratinidhi Manthan

जेएनयूके छात्रों और प्रशासन के बीच घनघोर संग्राम चल रहा है। एक मनाने को राज़ी नहीं है,तो दूसरा मानने को। देशभर में इसकी राजनीति ने जोर पकड़ लिया है। कुछ जेएनयू के समर्थनमें खड़े दिखाई दे रहे हैं, तो ज्यादातर लोग इसके विरोध में हैं और लगातार JNU को बंदकराने की मांग कर रहे हैं। अपने विचार रखने की आज़ादी है, इसलिए जिसका जो भी विचार हैहम उस पर कोई टप्पणी नहीं करेंगे।

हमबस यहां आपके लिए एक जानकारी लेकर आये हैं, कि लगातार जिस संस्थान को बंद कराने कीमांगें उठ रही हैं, जिसे अय्याशी का अड्डा बताया जा रहा है, उस संस्थान से कौन-कौनसी बड़ी हस्ती पढ़कर निकली हैं। चार हस्तियां तो ऐसी हैं, जो विदेशी हैं और उनमें सेदो अपने देश के प्रधानमंत्री के पद तक पर काम कर चुकी हैं। तो आइये लिस्ट पर नजर डालतेहैं-

ये सब जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी(JNU) से पढ़े हैं-

1. निर्मला सीतारमण-                   केंद्रीय वित्त मंत्री (M.A.Economics)

2. एस. जयशंकर-                         विदेश मंत्री (Ph.D,International Relation)

3. मेनका गांधी-                            संसद एवं पूर्व मंत्री(German Language)

4. आलोक जोशी-                          पूर्व रॉ चीफ

5. अब्दुल सैतार मुराद-                   मिनिस्टर ऑफ़ इकॉनमी, अफगानिस्तान

6. अली जैदान-                              लीबिया देश के पूर्वप्रधानमंत्री

7. बाबूराम भट्टाराई-                        नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री

8. योगेंद्र यादव-                             सामाजिक कार्यकर्ता,फाउंडर स्वराज अभियान (M.A.)

9. सीताराम येचुरी-                         CPI-M नेता (M.A.Economics)

10. अहमद बिन सैफ अल नाह्यान-    चेयरमैन एतिहाद एयरवेज, दुबई

11. अभिजीत बनर्जी-                       नोबेल पुरस्कार विजेता

ऐसेअनगिनत नाम हैं, जो देश और दुनिया के बड़े-बड़े पदों पर स्थापित हैं। ये कुछ मुख्य नामहैं जो हमनें आपके सामने रखे। नोबल पुरस्कार से सम्मानित अभिजीत बनर्जी (AbhijitBanerjee) तो अब जेएनयू में कभी- कभी पढ़ाते भी हैं। बता दें, इस यूनिवर्सिटी को वर्ष2017 में राष्ट्रपति की ओर से देश के सर्वश्रेष्ठ विश्ववद्यालय का पुरस्कार मिल चुकाहै और यहां बहुत सारे विदेशी छात्र भी शिक्षा ग्रहण करते हैं।

समाधान

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

सरकारी योजना

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com