देवराडी का विदाई समारोह सम्पन्न

मुख्य अतिथि के सम्मान में आनंद मिश्रा ने प्रधानाचार्य देवराडी मैडम को शाल, श्रीफल और सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया
 देवराडी का विदाई समारोह सम्पन्न
देवराडी का विदाई समारोह सम्पन्न

दतिया। शा.महारनी लक्ष्मी बाई कन्या उ.मा.वि. दतिया की प्राचार्य श्रीमति गौरी देवराडी शिक्षा विभाग में 37 वर्ष की निर्विवाद सेवा काल के बाद 28 फरवरी को सेवा से सेवानिवृत्त हो गई। उनकी सेवानिवृत्ति पर शा.म.ल.व कन्या उ.म.वि. दतिया के प्रांगण में एक भव्य विदाई समारोह का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जीवाजी विश्वविद्यालय के पूर्व कुलसचिव, इतिहासकार, शिक्षाविद् प्रो. डॉ. आनंद मिश्रा जी (डी.लिट.) रहे।कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला शिक्षा अधिकारी यूएन मिश्रा ने की एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में डी पी सी राजेश पैकरा, विकास खंड शिक्षा अधिकारी, एसके बर्मा, प्राचार्य श्रीमती गौरी देवराडी, उप-प्राचार्य डॉ. अनिल दुवे, हरिश्चंद्र देवराडी और प्राचार्य मैडम के अनुज राजेश धस्मना, संजय धस्माना और उनके पुत्र हिमांशु देवराडी उपस्थित रहे।कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती पूजन एवं दीप प्रज्ज्वलन से हुई।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के सम्मान में स्वागत भाषण विद्यालय के उप प्राचार्य डॉ. अनिल दुवे ने दिया और कार्यक्रम का संचालन विद्यालय में अशोक शुक्ल द्वारा सफलतापूर्वक किया गया।विदाई समारोह के इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के सम्मान में आनंद मिश्रा ने प्रधानाचार्य देवराडी मैडम को शाल, श्रीफल और सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया और उनके सम्मान में बोलते हुए कहा कि निस्संदेह इस विद्यालय में प्रधानाचार्य के रूप में लगभग 11 वर्षों का कार्यकाल बहुत ही सराहनीय रहा है। शिक्षा विभाग में उनकी सेवाओं को कभी नहीं भुलाया जा सकता है, आप अपने विषय की पूर्ण ज्ञाता होने के साथ साथ एक कर्तव्य निष्ठा शिक्षिका और प्रशासक के रूप में सदेव छात्रों और सहकर्मियों के बीच लोकप्रिय रही हैं। मैं आपके और आपके परिवार के उज्ज्वल भविष्य और स्वास्थ्य की कामना करते हुए मैं आपको बधाई देता हूं एवं आशान्वित हूँ कि आप सेवा निवृत्ति के बाद भी समाज एवं समुदाय के कल्याण के लिये सदैव तत्पर रहेगी।

अध्यक्षीय उदबोधन देते हुये जिला शिक्षा अधिकारी यूएन. मिश्रा ने कहा की गौरी देवराड़ी मेडम का कार्यकाल शिक्षा विभाग के लिये अनुकरणीय है। आप की छवि विभाग में बेहद सरल सहिज, निश्छल, ईमानदार एवं शालीनता की रही है और हमेशा आप समय की पावन्द रही है। आप ने विद्यालय में छात्राओं के अध्ययन को शिखर तक पहुंचाने में महती भूमिका अदा की है। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि प्रो.डा. आनंद मिश्रा का भी साल श्रीफल एवं सम्मान पत्र देकर डी.ई.ओ. श्री मिश्रा एवं एम.एल.वी. विद्यालय परिवार द्वारा उनका सम्मान किया गया। दोनो सम्मान पत्र एवं अभिनंदन पत्र का बाचन विद्यालय के शिक्षक अशोक शुक्ला द्वारा किया गया। कार्यक्रम को सेवा निवृत प्राचार्या श्री मती गौरी देवराड़ी ने विद्यालय में शिक्षक साथीयों के साथ लम्बे समय तक विद्यालय में विताये गये अपने अनुभवों की चर्चा की।

कार्यक्रम को डी.पी.सी. राजेश पैकरा, राजेश धसमाना, आर.वी. श्रीवास्तव, डा. प्रभा शर्मा, शशी प्रभा मिश्रा सु श्री अनीता राजौरिया, प्रभा राय आदि ने भी प्राचार्य मेडम के सम्मान में अपना उदबोधन दिया एवं साथ विताय गये पलो की भी चर्चा की। इस अवसर पर कार्यक्रम में मुख्य रूप से डा. कमलेश दुबे, कमलकान्त शर्मा यूके मेहोरिया, वी.के.दुवे, आरवी श्रीवास्तव, संतोष अग्रवाल, डा. अनिता शर्मा,श्रीकांत तिवारी,रविदत्त त्रिपाठी, रामप्रकाश तिवारी, के.डी. त्रिवेदी, सुनील माठे, विकास मानसिंह यादव, सुरजीत अहिरवार, मनोज, केसी, दिनकर महेश्वर दयाल खरे, मंजू श्रीवास्तव, आनंद श्रीवास्तव, नीरज श्रीवास्तव, डा. रमेश गुप्ता, केशव श्रीवास्तव, प्रभात सिंह वैस, जगदीश पाचाल, पुष्पा मित्तल, किरण बुधौलिया, बन्दना राहुल, आराधना श्रीवास्तव, बन्दना तिवारी, रजनी मुखरईया, सगीता यादव, गीता दीक्षित ज्योती राय, किरण शर्मा, शाहजहाँ मिजी, शंकर सिंह राजपूत, रेशमा बानी, मनवेन्द्र गुर्जर संतोष सोनी, एवं विद्यालय का समस्त स्टाफ उपस्थित रहा।

सरकारी योजना

No stories found.

समाधान

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com