एकात्म पर्व आयोजित

आचार्य शंकर की जन्म जयंती के उपलक्ष में एकात्मक पर्व का आयोजन
 एकात्म पर्व आयोजित
एकात्म पर्व आयोजित

आचार्य शंकर की जन्म जयंती के उपलक्ष में एकात्मक पर्व का आयोजन मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद दतिया के तत्वावधान में जिला पंचायत के सभागार में आयोजित किया गया। जिसमें आचार्य शंकर जीवन व दर्शन पर व्याख्यानमाला का आयोजन किया गया। आयोजित व्याख्यानमाला में मुख्य अतिथि के रुप में श्री रुपेश उपाध्याय अपर कलेक्टर दतिया, कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री कमलेश भार्गव मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत दतिया एवं व्याख्यानमाला में मुख्य वक्ता डॉ हरेंद्र भार्गव प्राचार्य संस्कृत महाविद्यालय पीतांबरा पीठ दतिया, धनंजय मिश्रा अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत, ब्रह्मकुमारी दीपा बहिन ब्रह्मकुमारी आश्रम दतिया, श्रीमती कविता समाधिया गायत्री परिवार दतिया एवं डॉ आलोक सोनी वरिष्ठ समाजसेवी दतिया वक्ता के रूप में उपस्थित रहे।

अतिथियों के द्वारा कार्यक्रम का शुभारंभ शंकराचार्य जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर एवं दीप प्रज्वलन कर किया गया तदोपरांत अतिथियों का स्वागत मुनेंद्र शेजवार जिला समन्वयक मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद, सुनील गायकवाड आपदा प्रबंधन, शैलेंद्र लिटोरिया ब्लॉक समन्वयक मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद दतिया, बीपी यादव एमएमपी नेटवर्क नई दिल्ली, डॉ. बबीता विजपुरिया आस नेटवर्क, उमा नौगरैया गायत्री परिवार, श्रीमती श्वेता गोरे वरिष्ठ समाजसेवी, श्रीमती पुष्पा गुगोरिया मातृत्व स्वास्थ्य अधिकारी अभियान, श्रीमती आकांक्षा रावत बेटी क्लब, देवेंद्र बौद्धनव नवसहभागी विकास संस्था, अमित त्रिपाठी, सुदीप तिवारी बाल प्रगति संस्था, अशोककुमार शाक्य स्वदेश संस्था, सुखसिंह गौतम मूक बधिर विद्यालय, सुबोध शर्मा प्रस्फुटन समिति सरसई, दशरथ यादव प्रस्फुटन समिति गरेरा, बलवीर पांचाल, सेंमई के साथ ही संस्कृत भारती के श्री मदनमोहन शर्मा ऋषिराज मिश्रा एवं राघवेंद्र पांचाल द्वारा माल्यार्पण कर स्वागत किया गया।

अतिथियों एवं प्रतिभागियों का स्वागत भाषण के माध्यम से ब्लॉक समन्वयक शैलेंद्र लिटौरिया द्वारा किया गया। कार्यक्रम प्रतिवेदन की प्रस्तुति मुनेंद्र शेजवार जिला समन्वयक मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद द्वारा की गई। कार्यक्रम का संचालन रामजीशरण राय स्वदेश ग्रामोत्थान समिति दतिया द्वारा किया गया।

एकात्म पर्व मुख्य अतिथि श्री रुपेश उपाध्याय अपर कलेक्टर दतिया द्वारा पूज्य शंकराचार्य जी के द्वारा प्रदर्शित मार्ग और उनके द्वारा रचित धर्मग्रंथ आध्यात्मिक ग्रंथों में लिखें सूत्रों का अनुसरण जीवन में करने की आव्हान किया साथ ही जिले में पुरातात्विक धरोहर, स्मारक, जलाशय इत्यादि एवं जिले में विभिन्न विधाओं के कलाकारों जो व्यापक पहचान से अछूते हैं उन सभी की सूची बनाकर अभिलंब मांगी गई ताकि उन सबको प्रमुखता प्रदान की जा सके और उनके हुनर का लाभ सबको मिल सजे।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए अपर सीईओ कलेक्टर कमलेश भार्गव द्वारा स्वामी जी के जीवन पर व्याख्यान देते हुए उनके जीवन के बहुत महत्वपूर्ण बिंदुओं पर प्रकाश डाला गया। मुख्य वक्ता डॉ हरेंद्र भार्गव द्वारा अद्वैत सिद्धांत की व्याख्या, ब्रह्म सूत्र की व्याख्या, ब्रह्म और जीव के साथ ही समष्टि और व्यष्टि की व्यापक प्रस्तुति की गई। एकत्व और अनेकत्व के बारे में बताते हुए जीवन मुक्ति के साथ ही माया का स्वरूप अर्थात अज्ञान के बारे में गहनतापूर्ण प्रभावी ढंग से जानकारी दी गई।

ब्रह्मकुमारी दीपा जी द्वारा उपस्थित प्रतिभागियों से विकारों के गरतगव से उबरने हेतु एकमात्र वअध्यात्म के संदेशों का अपने जीवन में समाप्त करने की अपील की गई। कंठे कंठे संस्कृतम् एवं आदि गुरु शंकराचार्य जी की शास्त्र शिक्षा का ज्ञान के बारे में गायत्री परिवार की श्रीमती कविता समाधिया द्वारा प्रेरक उद्बोधन दिया गया। डॉ. आलोक सोनी वरिष्ठ समाजसेवी द्वारा शंकराचार्य जी के जीवन के विभिन्न पहलुओं पर जानकारी दी गई।

आयोजन में प्रमुख रूप से जिले में संचालित स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधि ब्रह्मकुमारी आश्रम से प्रतिनिधि दल एवं ब्रह्म कुमारी गायत्री परिवार से भैया जी उनके साथ गायत्री परिवार का दल, बेटी क्लब प्रतिनिधि दल एवं मातृत्व स्वास्थ्य हकदारी अभियान, एक्शन अगेंस्ट सेक्शन नेटवर्क एवं जिला बाल अधिकार मंच के साथ ही विभिन्न सामाजिक संगठनों एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों कल्पना अग्रवाल, माया सक्सेना, अशोक श्रीवास्तव, मीना श्रीवास्तव, मूरत सिंह यादव, सुख सिंह गौतम, अनिल गोस्वामी, राजेंद्र उदेनिया, बीके श्याम भाई, बीके निराली बहन, मोहिनी सक्सेना, अनिकेत गुप्ता, राहुल गुप्ता, राम सिंदूर गुर्जर, बृजेंद्र पाल, अर्जुन जाटव, ज्योति गुप्ता, रवि कुमार अहिरवार, आयुष राय, कृष्णकांत दांगी, कपिल शर्मा, पीयूष राय, धीरज प्रजापति, देशराज प्रजापति, विपिन शर्मा, शिवकांत शर्मा, रोहित जाटव, भास्कर गोरे, राजेंद्र कुमार अपने सम्मिलित हुए और अपने अपने विचार पूज्य शंकराचार्य जी के प्रति व्यक्त किए उक्त जानकारी राजकुमार वर्मा मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद द्वारा दी गई।

सरकारी योजना

No stories found.

समाधान

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com