डॉक्टर्स जीवन बचाने का प्रयास करते हैं परंतु जीवन एवं मृत्यु उनके हाथ में नहीं : डॉ.राठौर

लालसोट की डॉ.अर्चना शर्मा को दी श्रद्धांजलि एवं की न्याय की मांग!
डॉक्टर्स जीवन बचाने का प्रयास करते हैं परंतु जीवन एवं मृत्यु उनके हाथ में नहीं : डॉ.राठौर
डॉक्टर्स जीवन बचाने का प्रयास करते हैं परंतु जीवन एवं मृत्यु उनके हाथ में नहीं : डॉ.राठौर

दतिया/ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन एवं मेडिकल ऑफिसर्स एसोसिएशन के संयुक्त तत्वाधान में मेडिकल कॉलेज दतिया में राजस्थान की चिकित्सक डॉ.अर्चना शर्मा की भीड़ तंत्र द्वारा प्रेरित प्रशासकीय हत्या के विरोध स्वरूप कैण्डल मार्च, शांति पूर्वक प्रदर्शन एवं श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया!

जिसमें दो मिनट का मौन धारण कर दिवंगत चिकित्सक को श्रद्धांजलि दी गईं एवं चिकित्सक की हत्या के लिए दोषी प्रशासन, नेता व भीड़तंत्र में शामिल लोगों पर कानूनी कार्यवाही की मांग की गई!

इस अवसर पर सभा को संबोधित करते हुए आई एम ए के सेक्रेटरी डॉ.के सी राठौर द्वारा बताया गया कि लालसोट की डॉ.अर्चना शर्मा के विरुद्ध पुलिस के द्वारा 302 का झूठा केस दर्ज किया गया जिसके दवाव में चिकित्सक के द्वारा जो आत्मघाती कदम उठाया गया वो असल में भीड़तंत्र के दवाब में पुलिस एवं कुछ क्षेत्रीय नेताओं द्वारा चिकित्सक की हत्या की गई है अतः राजस्थान सरकार सभी दोषियों के विरुद्ध न्यायोचित कार्यवाही करे!

आई एम ए के प्रेसीडेंट डॉ.प्रदीप शुक्ला के द्वारा बताया गया कि आई एम ए पूरे देश में इस घटना को लेकर आंदोलित है, एवं राज्य सरकार उचित कार्यवाही सुनिश्चित करे! उपचार के दौरान होने वाली हर मृत्यु चिकित्सीय लापरवाही नहीं होती!

इस अवसर पर डॉ.प्रदीप उपाध्याय, डॉ.डी के गुप्ता, डॉ.अर्जुन सिंह, डॉ.विजय चौधरी, डॉ.मुकेश राजपूत, डॉ.संजीव शर्मा, डॉ.सचिन यादव, डॉ.के एम वरुण, डॉ. के डी आर्य एवं चिकित्सा छात्र उपस्थित रहे! उपरोक्त जानकारी हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ.मुकेश शर्मा द्वारा दी गई!

सरकारी योजना

No stories found.

समाधान

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.