दतिया-निर्माण एजेसियां पूरी गुणवत्ता के साथ समय-सीमा में निर्माण कार्य पूर्ण करें

दतिया-निर्माण एजेसियां पूरी गुणवत्ता के साथ समय-सीमा में निर्माण कार्य पूर्ण करें
दतिया-निर्माण एजेसियां पूरी गुणवत्ता के साथ समय-सीमा में निर्माण कार्य पूर्ण करें

निर्माण एजेसियां पूरी गुणवत्ता के साथ समय-सीमा में निर्माण कार्य पूर्ण करें

रिपोर्टर सुनील पटवा

कलेक्टर ने निर्माण कार्यो की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को दिए निर्देश

दतिया। कलेक्टर संजय कुमार ने विकास एवं निर्माण कार्यो की प्रगति की समीक्षा करते हुए निर्माण एजेसिंयों को निर्देश दिए कि जो निर्माण कार्य संचालित है। वह पूरी गुणवत्ता के साथ समय-सीमा में पूर्ण किए जाए। जिससे उनका लाभ जन समुदाय को मिलना शुरू हो सके।

कलेक्टर कुमार ने गुरूवार को न्यू कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में उक्त आशय के निर्देश विकास एवं निर्माण कार्यो की प्रगति की समीक्षा बैठक में संबंधित विभागों के अधिकारियों को दिए। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपाल अधिकारी जिला पंचायत कमलेश भार्गव सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।कलेक्टर ने सड़कों की प्रगति की समीक्षा करते हुए सड़क निर्माण करने वाले विभागों के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जिले में वर्षा के दौरान जो सड़के क्षतिग्रस्त हो गई है। लेकिन जो गारंटी पीरियट में है। उनके संधारण एवं जीर्णेद्धार का कार्य सड़क निर्माण करने वाले ठेकेदार से कराया जाए। उन्होंने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं जल निगम द्वारा किए जा रहे कार्यो की समीक्षा करते हुए कहा कि ऐसे गांव जहां पेयजल के स्थाई स्त्रोत है उन जल स्त्रोतों के संधारण हेतु स्थानीय स्तर पर समिति गठित कर लोगों का भी सहयोग लें। उन्होंने शिक्षा विभाग के निर्माणाधीन शाला भवनों आदि की समीक्षा करते हुए कहा कि जो भवन गुणवत्ता विहीन एवं मापदण्ड़ों के अनुरूप निर्माण नहीं किये जा रहे है उन निर्माण एजेसिंयों के विरूद्ध कार्यवाह की जायेगी। कलेक्टर ने पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के निर्माण कार्यो की समीक्षा करते हुए कहा कि ऐसे सरपंच या सचिव जिनके द्वारा राशि आहरण करने के उपरांत भी निर्माण कार्य शुरू या पूर्ण नहीं किए है उनके विरूद्ध पुलिस में एफआईआर की कार्यवाही करें। उन्होंने सभी निर्माण एजेसिंयों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि उनके विभाग द्वारा संचालित कार्यो की प्रगति की भी निरंतर समीक्षा करें।

लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री ने बताया कि जिले में 312 गांवों में फरवरी माह तक शत प्रतिशत पानी उपलब्ध करा दिया जायेगा। बैठक में आंगनबाड़ी केन्द्र भवनों की प्रगति, सांसद एवं विधायक निधि से लिए गए निर्माण कार्य, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, नरेगा, जल संसाधन द्वारा निर्मित की जाने वाले जल संरचनाओं आदि विभागों की समीक्षा की।

समाधान

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

सरकारी योजना

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com