बुन्देलखंड़ क्षेत्र में 31 मार्च तक 14 बैंकों की शाखायें एवं एटीएम शुरू होंगे

केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री डॉ. कराड़ ने दतिया में बैकिंग सेवाओं की समीक्षा की
बुन्देलखंड़ क्षेत्र में 31 मार्च तक 14 बैंकों की शाखायें एवं एटीएम शुरू होंगे
बुन्देलखंड़ क्षेत्र में 31 मार्च तक 14 बैंकों की शाखायें एवं एटीएम शुरू होंगे

बुन्देलखंड़ क्षेत्र में 31 मार्च तक 14 बैंकों की शाखायें एवं एटीएम शुरू होंगे

दतिया| 24 नवम्बर भारत सरकार के वित्त राज्यमंत्री डॉ भागवत किशनराव कराड़ ने बैकिंग सेवाओं की समीक्ष करते हुए कहा कि बुन्देलखड़ क्षेत्र के दतिया सहित छः जिलांे में 31 मार्च तक 14 विभिन्न बैंकों की शाखायें एवं एटीएम शुरू किए जायेंगे।

केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री डॉ. कराड़ बुधवार को दतिया के न्यू कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में बैंकर्स की आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में प्रमुख सचिव श्री अमित मीणा, एसएलवीसी के जीएम श्री एसडी महुकर, कलेक्टर श्री संजय कुमार, पंजाब नेशनल बैंक के क्षेत्रीय प्रबंधक श्री नवनीत शर्मा, सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया के क्षेत्रीय प्रबंधक श्री अमरीत सिंह सहित अग्रणी जिला बैंक प्रबंधक श्री वीरेन्द्र पाल सिंह सहित विभिन्न बैंकांे के क्षेत्रीय एवं जिला प्रबंधक आदि उपस्थित थै।

केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री ने कहा कि बुन्देलखण्ड़ क्षेत्र के 6 जिले जिसमें दतिया शामिल है बैंकिग सेवाओं का विस्तार कर आम जनता तक बैंकों की सेवायें पहुंचाना है। इसके लिए 31 मार्च तक 14 बैंकों की शाखायें एवं एटीम शुरू किए जावे। केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था बढ़ाने एवं विकास के मामले में बैंकों की अहम् भूमिका है। देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की सोच है कि उद्योगपतियों के साथ-साथ छोटे-मोटे उद्योगों के लिए भी लोगों को बैंकों के माध्यम से सुविधा उपलब्ध हो। जिससे समाज के कमजोर वर्गो विशेषकर अनुसूचित जाति एवं जनजातियों के लोग भी बैकिंग सेवाओं से जुड़ सके। जिससे वह विकास की मुख्य धारा में आकर अपनी आर्थिक स्थिति में सुधार ला सके।

वित्तराज्यमंत्री ने बैंकर्स को निर्देश दिए कि दिसम्बर के प्रथम सप्ताह में विशेष अभियान संचालित कर प्रत्येक बैंक शाखाा स्तर पर प्रधानमंत्री जनधन योजना के खाते खोलने के साथ प्रधानमंत्री बीमा सुरक्षा योजना से भी आम जनता को जोड़े। देश में केशलेश को बढ़ावा देने हेतु प्रत्येक बैंक में 100 डिजीटल ट्रांजेक्शन हेतु खाते खोले। इस दौरान रूपयेकार्ड भी प्रदान किए जाये। उन्होंने कहा कि बैकिंग सेवाओं एवं सुविधाओं का लाभ दिलाने हेतु लोगों को फायनेंस लिट्रेसी (वित्तीय साक्षरता) शिविर आयोजित किए जाए। नावार्ड के माध्यम से प्रचार वाहन द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में लोगोें को वित्तीय साक्षरता की भी जानकारी दी जाए।

वित्त राज्यमंत्री ने कहा कि बैंकर्स के लिए प्रत्येक ग्राहक भगवान के रूप मंे है बैंक में आने पर हम उसे पूरा मान-सम्मान दें और इसी उद्देश्य को ध्यान में रखकर बैंकर्स कार्य करें। उन्होंने बैकर्स को (सीडी रेशो) क्रेडिट डिपोजिट बढ़ाने पर भी विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। इसके लिए लोगों तक बैंकिग सेवायें पहुंचाए।

बैठक के शुरू में एसएलबीसी के श्री महुकर ने पावर प्रेजेन्टेशन के माध्यम से प्रदेश में बैंकिंग सेवाओं की प्रगति पर प्रकाश डालते हुए केन्द्र एवं राज्य सरकार की विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं के तहत् लाभान्वित किए जा रहे हितग्राहियों की जानकारी दी। उन्होंने क्रेडिट आऊटरिच कार्यक्रम के तहत् आयोजित शिविरों के बारे में अवगत कराया।

कलेक्टर श्री संजय कुमार ने बताया कि बैंकिंग सेवाओं की अधिक से अधिक जानकारी आमजनता को हो इसके लिए कॉमन सर्विस सेंटर बनाया जाए। जिसमें शिक्षित बेरोजगारों सहित आमजन उद्योग व्यवसाय शुरू करने हेतु बैकों से मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी भी प्राप्त कर सके। वित्त राज्यमंत्री ने बैठक मंे किसान क्रेडिट कार्ड, आत्म निर्भर भारत योजना, प्रधानमंत्री बीमा सुरक्षा योजना, प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना और मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता आदि योजनाओं की भी समीक्षा की। बैठक के अंत में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के क्षेत्रीय प्रबंधक श्री रविन्द्र त्रिपाठी ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया।

समाधान

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

सरकारी योजना

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com