नवरात्रि के नौ रंगों का विशेष महत्व जानिए : नवरात्रि 2021

नवरात्री का पर्व आने को है, हमारे देश में खासकर हिन्दू धर्म अनुयायियों द्वारा इस त्यौहार को बड़े हर्ष और उल्लास से मनाया जाता है. इस परम शुभ माने जाने वाले त्यौहार को भारत समेत दुनिया के कई देशों में मनाया जाता है।
नवरात्रि के नौ रंगों का विशेष महत्व जानिए : नवरात्रि 2021

नवरात्री का त्योहार नौ दिन की अवधी तक मनाया जाता है जिसमें माता रानी के नौ विशिष्ट रूपों की आराधना की जाती है. मानसून के बाद की यह नवरात्रि हिंदू चंद्र माह अश्विन के शुक्ल पक्ष में मनाई जाएगी।

इस साल नवरात्रि 7 अक्टूबर से 15 अक्टूबर तक मनाई जाएगी। यह त्योहार नौ दिनों तक चलने वाले सबसे भव्य उत्सव का प्रतीक है। देश विदेश के अलग अलग कौनों में इसे अलग अलग ढंग से मनाया जाता है. पश्चिम बंगाल का नवरात्री उत्सव पूरे विश्व में प्रसिद्द है। त्योहार के प्रत्येक दिन में अलग-अलग रंग होते हैं जो इसे समर्पित होते हैं। जैसा कि त्योहार शुरू होने को है, हम आपके लिए रंगों और इसके महत्व की एक सूची लेकर आए हैं जो आपको त्योहार के विशेष दिनों में माता को अर्पित करना चाहिए व स्वयं भी पहनना चाहिए।

नवरात्रि 2021 पहला दिन: शैलपुत्री (पीला रंग)

प्रतिपदा का पहला दिन गुरुवार को पड़ता है, इसलिए उस दिन का रंग पीला होता है। शरद नवरात्रि के आनंद और उत्साह का जश्न मनाने के लिए आपको पीले रंग की मधुर छाया पहननी चाहिए। पहले दिन माँ शैलपुत्री की आराधना की जाती है।

नवरात्रि 2021 दूसरा दिन: ब्रह्मचारिणी (हरा रंग)

नवरात्रि का दूसरा दिन द्वितीया है। इस दिन भक्त माँ ब्रह्मचारिणी की आराधना करते हैं। यह दिन हरा रंग पहनकर मनाया जाता है जो प्रकृति और समृद्धि का रंग भी है।

नवरात्रि 2021 तीसरा दिन: चन्द्रघण्टा (ग्रे/आसमानी रंग)

शुभ ग्रे/आसमानी रंग नवरात्रि के तीसरे दिन यानी तृतीया को पहनना उचित माना गया है। सूक्ष्मता की दृष्टि से भी धूसर एक अनूठा रंग है। इस दिन माँ चंद्रघण्टा की आराधना की जाती है।

नवरात्रि 2021 चौथा दिन: कूष्माण्डा (नारंगी रंग)

चौथे दिन का रंग नारंगी है। यह रंग गर्मी और उत्साह का प्रतिनिधित्व करता है, इस रंग को नवरात्रि के चौथे दिन पहनना चाहिए। इस दिन माँ कूष्माण्डा की आराधना की जाती है।

नवरात्रि 2021 पांचवां दिन: स्कंदमाता (सफेद रंग)

पंचमी के पांचवें दिन यानी सोमवार को, सर्वशक्तिमान देवी का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए सफेद रंग का वस्त्र धारण करें। सफेद रंग पवित्रता और मासूमियत की सुंदरता का प्रतिनिधित्व करता है। इस दिन माँ स्कंदमाता की आराधना की जाती है।

नवरात्रि 2021 छठा दिन: कात्यायनी (लाल रंग)

षष्ठी के दिन यानी मंगलवार को, अपने नवरात्रि उत्सव के लिए जीवंत लाल रंग पहनें। लाल स्वास्थ्य, जीवन, अनंत साहस और तीव्र जुनून का प्रतीक है। इस दिन माँ कात्यायनी का पूजन-अर्चन किया जाता है।

नवरात्रि 2021 सातवां दिवस : कालरात्रि (रॉयल ब्लू कलर)

सप्तमी के दिन यानी बुधवार को रॉयल ब्लू रंग पहनने का महत्व बताया गया है। नीला रंग अच्छा स्वास्थ्य और समृद्धि लाता है। इस रंग को पहनकर भक्तों को नवरात्रि उत्सव के उत्साह में भाग लेना चाहिए। इस दिन माँ कालरात्रि को प्रसन्न करने के लिए भव्य पूजन किया जाता है।

नवरात्रि 2021आठवां दिन: महागौरी (गुलाबी रंग)

अष्टमी के दिन भक्तों को गुलाबी रंग पहनना चाहिए। गुलाबी सार्वभौमिक प्रेम, स्नेह और स्त्री आकर्षण का प्रतीक है। यह सद्भाव और दया का रंग है। इस दिन माँ महागौरी का पूजन किया जाता है।

नवरात्रि 2021 नौवां दिवस : सिद्धिदात्री (बैंगनी रंग)

नवरात्रि 2021 के नौवें एवं अंतिम दिन भक्तों को बैंगनी रंग पहनना चाहिए। बैंगनी रंग में संलिप्त लाल रंग- ऊर्जा और जीवंतता औएवं नीला रंग- रॉयल्टी और स्थिरता को दर्शाता है। इस दिन सभी सिद्धियों का वरदान देने वाली माँ सिद्धिदात्री की आराधना व पूजन किया जाता है।

समाधान

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

सरकारी योजना

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com