याददाश्त को धार देने के लिए यह सब करना होता है, शोधकर्ताओं का दावा! 
याददाश्त को धार देने के लिए यह सब करना होता है, शोधकर्ताओं का दावा!

याददाश्त को धार देने के लिए यह सब करना होता है, शोधकर्ताओं का दावा! 

याददाश्त को धार देने के लिए यह सब करना होता है, शोधकर्ताओं का दावा! 

Ashish Urmaliya | The CEO Magazine

जीवन में तरक्की पाने के लिए जिस चीज़ की सबसे ज्यादा जरूरत होती है, वह है 'तेज़ दिमाग'। बढ़ती उम्र और भागदौड़ भरी जिंदगी के चलते हमारा दिमाग सिथिल सा पड़ जाता है, हमारी याददाश्त कमजोर होने लगती है। और हमें इस बात का एहसास बड़ी देर से होता है। अगर आप अपने जीवन में कुछ बड़ा कर गुजरने की चाह रखते हैं। तो आपको अपना दिमाग मजबूत और तेज रखने की जरूरत है। इसके लिए आपको एक अच्छी डाइट लेनी होती है और अपने व्यस्त जीवन से समय निकलकर कुछ एक्सरसाइजेज करनी होती हैं। आइये जानते हैं।

अपनी डाइट में ये शामिल करें-  

अखरोट-

यह आपके  दिमाग के साथ दिल का भी ख्याल रखता है। इसमें अल्फा इनोलेनिक एसिड के अलावा और भी कई अन्य पोषण तत्व मौजूद होते हैं। जो आपके दिमाग तक पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन पहुंचाकर रक्तसंचार को बढ़ाने का काम करते हैं। अखरोट में विटामिन E के मौजूद होने की वजह से यह दिमाग को तेज और तंदुरुस्त रखता है। इसे ब्रेन फूड भी कहा जाता है। खास बात यह है कि, इसका शेप भी ह्यूमन ब्रेन की तरह ही होता है। आप प्रतिदिन 10 से 15 ग्राम अखरोट गुनगुने दूध के साथ ले सकते हैं।

अश्वगंधा-

अश्वगंधा का उपयोग प्राचीन काल से ही तनाव को दूर करने के लिए किया जाता है। यह आपके ब्रेन में मौजूद स्ट्रेस हार्मोन के प्रभाव को कम करता है।

दिमाग को शार्प करने के लिए एक छोटा चम्मच अश्वगंधा पाउडर रात को सोने से आधा घंटा पहले गुनगुने दूध के साथ पीएं।

बादाम-

बादाम में भी विटामिन E की भरपूर मात्रा होती है। इसके अलावा इसमें कई अन्य तरह के पोषक तत्त्व पाए जाते हैं। जो हमारे दिमाग को प्रभावशाली रूप से दुरुस्त करते हैं। हालांकि, बादाम की तासीर गर्म होती है, इसलिए भारत में प्रतिदिन 4 से 5 बादाम (भिगो कर) ही खाने चाहिए। दिमाग के अलावा यह शरीर की अन्य कई समस्याओं को दूर करने में मददगार साबित होता है।

हल्दी-   

हल्दी में भी ऐसे कई गुण होते हैं, जो हमारे मानसिक तनाव को दूर करते हैं। हल्दी में मौजूद कर्क्यूमिन, व्यक्ति के भीतर फील-गुड हार्मोन को एक्टिव करता है, और डोपामाइन, सेरोटोनिन अवसाद संबंधित लक्षणों को कम करने का काम करता है। दिमाग को तेज करना है, तो अपनी डाइट में आधा चम्मच हल्दी जरूर शामिल करें।

बेरी –

ब्लूबेरी हो स्ट्रॉबेरी हो या फिर ब्लैक बेरी। इनका नियमित सेवन आपकी एकाग्रता को बढ़ाने में काफी सहायक होता है। इनमें एंटीऑक्सीडेंट की भरपूर मात्रा होती है, जो दिमाग के लिए बेहद फायदेमंद है।

ब्रेन पावर बढ़ाने के लिए सबसे उपयोगी एक्सरसाइजेज-

पजल गेम-

पजल्स सॉल्व करने से अल्जाइमर (भूलने की बीमारी) का खतरा कम होता है। न्यूज़ पेपर पर उपलब्ध क्रॉसवर्ड और सुडोकू गेम से इसका अभ्यास शुरू किया जा सकता है। इसके अलावा गूगल प्ले स्टोर पर भी इस तरह के हजारों गेम्स उपलब्ध हैं, जिन्हें आप अपने स्मार्टफोन पर आसानी से खेल सकते हैं। दरअसल, इन खेलों के जरिये आप अपने ही दिमाग को चैलेंज देते हैं, जिससे दिमाग की अच्छी कसरत हो जाती है।

उल्टे हाथ का प्रयोग करें-

अपने रोजमर्रा के कामों में उस हाथ का उपयोग करें जो कम चलता है, यानि उलटे हांथ का। कहने का मतलब, सुबह उठ कर ब्रश करना, कंघी करने जैसे अन्य कई साधारण कार्य हम उल्टे हाथ की मदद से करते हैं, तो इसका दिमाग पर अच्छा प्रभाव पड़ता है।

आंख बंद कर, काम करने की कोशिश-

दिमाग को तेज करने के लिए रोज किये जाने वाले साधारण कामों को आंखें बंद करके करने की कोशिश करें। जैसे- अपने ही घर में एक जगह से दूसरी जगह तक जाना, भोजन करना, नहाना आदि. हालांकि, ये सभी काम सावधानी से करने की जरूरत होती है। लेकिन इस टास्क से आपके दिमाग के वो सभी हिस्से एक्टिव हो जाते हैं, जो आमतौर पर निष्क्रिय रहते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि, यह टास्क पूरी तरह से टच पर निर्भर करता है।

नई भाषा के प्रति रूचि बढ़ाएं-

किसी नई भाषा को सीखना या सीखने के प्रयास करने मात्र से ही आपके दिमाग की तार्किक क्षमता में बृद्धि होती है। एक स्टडी के मुताबिक, अगर आप नियमित रूप से प्रतिदिन कोई अपनी रूचि वाली भाषा सीखने का प्रयास करते हैं, तो आपकी रीजनिंग क्षमता बढ़ती है।

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com