हीरे के बारे में अब तक आपको बहुत गलत बातें बताई गई हैं

हीरे के बारे में अब तक आपको बहुत गलत बातें बताई गई हैं

AshishUrmaliya || Pratinidhi Manthan

हीरे के बारे में कहा जाता है, कि हीरा दुर्लभ है। देखा जाए तो जमीन के भीतर से निकलने वाला हर खनिज दुर्लभ है। हीरे को लेकर ऐसी कई तरह की बातें बनाई गई हैं जिनकी सच्चाई जाननी आपके लिए बेहद जरूरी है। 

इंसानी प्रवत्ति ही कुछ ऐसी होती है, कि एक मुंह से निकली बात दूसरे कानों तक पहुंचते-पहुंचते विकराल रूप धारण कर लेती है। खासतौर पर उस चीस के बारे में जो पहुंच से दूर होती है। हीरा के साथ भी कुछ ऐसा ही है। कीमती होने के चलते हीरा बहुत से लोगों की पहुंच से बाहर होता है, इसलिए इसको लेकर कई तरह की अफवाहें फैलाना लोगों के लिए आसान हो जाता है। तो आइये उन अफवाहों की सच्चाई जानते हैं।

पहली- हीरा टूटता नहीं है।

इसमें कोई दोराय नहीं है कि हीरा दुनिया की सबसे कठोर चीजों में से एक है, लेकिन ऐसा बिलकुल नहीं है कि हीरा टूट नहीं सकता। अगर हीरे को सही तरीके से जोरदार चोट मारी जाए तो वह टूट सकता है।

दूसरी- हीरा कभी जलता नहीं है।

हीरा असल में कार्बन होता है, अगर हीरे को पर्याप्त ऑक्सीजन और हीट मिले तो वह वास्तव में जल सकता है। लेकिन हीरा को जलाने के लिए करीब 900 डिग्री सेल्सियस तापमान की जरूरत होती है।

तीसरी- हीरा प्राकृतिक है।

​लोगों के बीच में यही बातें फैली हुई हैं कि हीरा प्राकृतिक है, जमीन के भीतर से निकलता है, जबकि हकीकत ये है कि हीरे को लैब में भी बनाया जा सकता है।लैब में बनाया गया हीरा जमीन से निकलने वाले हीरे जैसा ही होता है।

चौथी- हीरे से कठोर कुछ नहीं।

वर्तमान में भी बहुत से लोग हीरे को दुनिया की सबसे कठोर चीज मानते हैं, लेकिन यह सत्य नहीं है। 10 साल पहले यानी साल 2009 तक हीरे को दुनिया की सबसे कठोर चीज माना जाता था। लेकिन अब वैज्ञानिकों ने दो अन्य दुर्लभ खनिजों की खोज कर ली है, जो हीरे से भी कठोर होते हैं। उन दो खनिजों का नाम वुर्टजाइट बोरोन नाइट्राइड (Wurtzite boron nitride) और लोन्सडेलीट (lonsdaleite) है।    

पांचवी- कोयला ही हीरा बन जाता है।

लोगों के बीच यह गलत धारणा पनपी हुई है, कि कोयला ही हीरा बन जाता है, जबकि यह सच्चाई नहीं है। यह सच है, कि कोयले की तरह हीरा भी कार्बन का बना होता है, इसके साथ ही हीरा कोयले की खानों और भंडारों से निकलता है, लेकिन हीरा कोयले से नहीं बनता।

छठी- हीरा दुर्लभ है।

हीरा सुंदर, बहुमूल्य होता है लेकिन दुर्लभ तो नहीं होता, दुर्लभ होता तो इतने लोगों के पास कैसे होता?

Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com