अगरबत्ती का बिज़नेस- घर बैठे कमाएं 25 हजार का महीना

अगरबत्ती का बिज़नेस- घर बैठे कमाएं 25 हजार का महीना
अगरबत्ती का बिज़नेस- घर बैठे कमाएं 25 हजार का महीना

अगरबत्ती का बिज़नेसघर बैठे कमाएं 25 हजार का महीना 

Ashish Urmaliya | The CEO Magazine

भारत में धूप और अगरबत्तियों का बहुत ही ज्यादा प्रचलन है। जैसा कि हम जानते हैं, भारत में हिन्दू धर्म की बहुलता है और हिन्दू धर्म में पूजा-पाठ, धार्मिक कार्यक्रमों में धूप-अगरबत्ती का उपयोग करने की परंपरा है। इसके अलावा बाकी के लोग भी अगरबत्ती को उपयोग में लाते हैं क्योंकि इसकी महक घरेलू वातावरण को पवित्र व सुगम बनाती है। इसलिए इसका व्यापार और बाजार सफलतापूर्वक फलफूल रहा है। अगर आप भी कोई नया बिज़नेस शुरू करने के बारे में विचार कर रहे हैं और आपके दिमाग में कोई उचित आईडिया नहीं आ रहा है, तो धूप-अगरबत्ती के बिज़नेस के बारे में भी सोच सकते हैं। आइये जानते हैं इसकी पूरी कहानी…

मैन्युफैक्चरिंग मशीनें

अगरबत्ती बनाने की प्रक्रिया में कई तरह की मशीनों को उपयोग में लाया जाता है, इनमें मिक्सचर मशीन, ड्रायर मशीन और मेन प्रोडक्शन मशीन आदि शामिल हैं। मिक्सचर मशीन का उपयोग कच्चे माल का पेस्ट बनाने के लिए किया जाता है, ड्रायर मशीन से इस पेस्ट को हल्का सुखाया जाता है और मेन प्रोडक्शन मशीन इस पेस्ट को बांस की स्टिक पर लपेटने का काम करती है। अगरबत्ती बनाने वाली कुछ मशीनें सेमि और कुछ फुल्ली ऑटोमैटिक होती हैं। सबसे पहले आपको मशीन का चुनाव करना होगा,  इसके बाद अपने बजट के आधार पर मशीनों के सप्लायर से डील करें और उनका इंस्टालेशन करवाएं। और हां, काम शुरू करने से पहले इन मशीनों की बुनियादी ट्रेनिंग लेनी भी आवश्यक है। 

मशीनों की कीमत के बारे में जान लेते हैं

जैसा कि हमनें आपको बताया बाजार में अगरबत्ती बनाने वाली मशीनों के कई प्रकार उपलब्ध हैं, इसलिए इनकी कीमतों में भी विविधता है। इन मशीनों की कीमत 35 हजार से लेकर 2 लाख रूपए तक है। अब यह आप पर निर्भर करता है कि आप कौन सी मशीन को उपयोग में लाना चाहते हैं। हालांकि मशीनों का चुनाव आपके बजट पर भी निर्भर करता है। लेकिन आपको बता दें, सस्ती मशीन में प्रोडक्शन क्षमता कम होती है और इससे आपको ज्यादा मुनाफा नहीं होगा। इसलिए हमारे अनुसार तो आपको फुल्ली ऑटोमैटिक मशीन से बिज़नेस की शुरुआत करनी चाहिए क्योंकि इसकी प्रोडक्शन क्षमता बहुत अधिक होती है। इस मशीन की कीमत 90 हजार से शुरू होती है जो 2 लाख तक की कीमत पर उपलब्ध है। यह मशीन आपको एक दिन में 100 किलो ग्राम तक अगरबत्ती बनाकर देगी।

कच्चे माल के लिए यह करें– 

मशीन इंस्टॉलेशन के बाद आपको प्रोडक्शन के लिए कच्चे माल की आवश्यकता होगी। इसके लिए मार्केट के अच्छे सप्लॉयर्स से संपर्क साधें। अच्छे सप्लायरों की जानकारी के लिए अगरबत्ती उद्योग से जुड़े पुराने लोगों की मदद भी ले सकते हैं। कुछ कच्चे मॉल का स्टॉक बना कर भी रखें, क्योंकि प्रोडक्शन के समय इसका कुछ हिस्सा बर्वाद भी होता है। कच्चे मॉल में आपको जिन चीजों की जरूरत होगी वह हैं- गम पाऊडर, बांस, चारकोल पाउडर, खुसबूदार तेल, सेंट, फूलों की पंखुड़ियां, चंदन की लड़की, जेलेटिन पेपर, शॉ डस्ट, पानी, पैकिंग मटेरियल आदि।

सबसे जरूरी है मार्केटिंग और पैकेजिंग!

प्राथमिक स्तर पर आपके प्रोडक्ट की मांग मुख्य रूप से आपकी डिजाइनर पैकिंग और मार्केटिंग पर निर्भर करती है। अपने प्रोडक्ट को आकर्षक पैकिंग देने के लिए किसी एक्सपर्ट की सलाह लें। ध्यान रखें अगरबत्ती की पैकिंग को धार्मिक फील देना जरूरी है। मार्केटिंग के लिए अखबारों व टीवी पर ऐड दे सकते हैं।इसके अलावा आपका बजट गवाही दे तो कंपनी की ऑनलाइन वेबसाइट बनवाएं। बनानी आती हो तो खुद बनायें और उसपर अपने विभिन्न उत्पादों की मार्केटिंग करें और उनका स्पेसिफिकेशन दें।

कुल लागत और मुनाफा

वैसे तो यह बिज़नेस आप मात्र 15 हजार की लागत के साथ घर पर ही शुरू कर करते हैं, लेकिन इसमें अगरबत्ती का निर्माण हाथों से करना होगा जिसमें काफी वक्त जाया होता है। और अगर आप इस बिज़नेस की शुरुआत मशीन के साथ करना कहते हैं, तो इसके लिए आपको लगभग 5 लाख रूपए तक का निवेश करना होगा। अगर आप सालाना 30 लाख का बिज़नेस करते हैं, तो 10% फायदे के साथ आप 3 लाख रुपए कमा लेंगे। महीने के हिसाब से देखें तो आपकी कमाई 25 हजार रूपए प्रति महीना होगी।

सरकारी योजना

No stories found.

समाधान

No stories found.

कहानी सफलता की

No stories found.

रोचक जानकारी

No stories found.
Pratinidhi Manthan
www.pratinidhimanthan.com